झाबुआ उपचुनाव को लेकर कांग्रेस में मंथन तेज, दिल्ली पहुंचे कमलनाथ

0
27

भोपाल: मध्य प्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट पर 21 अक्टूबर को चुनाव होगा। चुनाव आयोग के ऐलान के साथ प्रदेश में सियासी हलचल तेज हो गई है। उम्मीदवारों ने भी अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। सोमवार से नामाकंन भरने का सिलसिला भी शुरु हो गया है। लेकिन कांग्रेस-बीजेपी अभी अपने-अपने उम्मीदवारों का नाम का तय नही कर पाई है। कांग्रेस में टिकट को लेकर दिग्गज नेता कांतिलाल भूरिया और जेवियर मेड़ा के बीच दौड़ मची हुई है। दोनो ही दावेदार अपनी-अपनी दावेदारी ठौक रहे हैं। कांग्रेस पार्टी भी दोनों को लेकर असमंजस में फसी हुई है। इसी बीच सीएम कमलनाथ दिल्ली पहुंचे हैं, जहां उम्मीदवारों को लेकर मंथन किया जाएगा। कयास लगाए जा रहे है कि कांग्रेस आज-कल उम्मीदवार के नाम का ऐलान कर सकती है।

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया ने संभावना जताई थी कि सोमवार तक प्रत्याशी के नाम की घोषणा हो जाएगी। झाबुआ सीट के लिए कांग्रेस में गुटबाजी भी देखने को मिली है। कांतिलाल भूरिया व उनके पुत्र डॉ विक्रांत दोनों में किसी एक को टिकट देने के लिए पार्टी पर लगातार दबाव बनाए हुए हैं। वही, मेढ़ा समर्थकों ने भी मोर्चा खोला रखा है। पार्टी में मची गुटबाजी के दौरान सीएम कमलनाथ ने मेड़ा को आश्वासन दिया था, इसी के चलते मेढ़ा सीएम के भरोसे पर उम्मीद लगाकर बैठे हैं कि इस बार उन्हें मौका दिया जाएगा।

पार्टी में मची गुटबाजी को देखते हुए सीएम कमलनाथ ने खुद यहां की जिम्मेदारी ली है। ऐसी संभावना है कि पार्टी कांतिलाल भूरिया को सतुंष्ठ करने के लिए राज्यसभा भेज सकती है और जेवियर मेढ़ा को झाबुआ सीट के लिए प्रत्याशी घोषित कर सकती है। वहीं कांतिलाल भूरिया का कहना है कि झाबुआ सीट पर उपचुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से तैयार है और प्रत्याशी कौन होगा ये सीएम कमलनाथ और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी तय करेंगे। बता दें कि बीजेपी के विधायक जीएस डामोर के लोकसभा के लिए चुने जाने के बाद यह सीट खाली हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here