मंदसौर में CM कमलनाथ ने कहा, सर्वे की जरुरत नहीं, 15 अक्टूबर तक वितरित होगा मुआवजा

0
32

मंदसौर: सोमवार को सीएम कमलनाथ बाढ़ से प्रभावित इलाकों मंदसौर, नीमच जिलों में वहां के हालातों का जायाजा लेने पहुंचे। सीएम ने कहा मैंने देखा है कि खेत पानी में डूबे हुए हैं। अब जो दिख रहा है उसके सर्वे की कोई जरुरत नहीं है। उन्होंने कहा कि 15 अक्टूबर तक सभी बाढ़ प्रभावितों को मुआवजा वितरित कर दिया जाएगा। कमलनाथ ने खराब फसलों के लिए 16 हजार से लेकर 30 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से मुआवजा या राहत राशि देने की घोषणा की। मुख्यामंत्री ने कहा कि ग्रामीण इलाके में मकान बनाने के लिए 1 लाख और नगरीय में 2.5 लाख रुपए दिए जाएंगे।

केंद्र से मदद न मिली तो अपने बजट में कटौती कर करेंगे सहायता
सीएम कमलनाथ ने नीमच जिले में बाढ़ प्रभावितों से मुलाकात के दौरान कहा कि सरकार ने बाढ़ से हुए नकुसान से लोगों को राहत पहुंचाने के लिए भारत सरकार से मदद देने की मांग की है। उन्होंने आगे कहा अगर हमें वहां से मदद मिले या न मिले, भले ही हमें बजट में कटौती करना पड़े, हम किसानों और बाढ़ प्रभावितों को पूरी मदद देंगे। कमलनाथ ने कहा पानी भरने के कारण जिन किसानों की फसल जैसे गेंहू, चनास सरसों, मटर, मसूर और अलसी आदि के बीजों का भंडारण खराब हो गया है, उन्हें आगामी रबी फसल के लिए उच्च गुणपत्ता के बीज उपलब्ध करवाए जाएंगे।

मैं यहां राहत देने आया हूं, कमलनाथ
सीएम ने मंदसौर में शिवराज सिंह चौहान के धरना प्रदर्शन पर कहा कि मैं गाने-बजाने नहीं आया हूं। मैं यहां राहत देने आया हूं। उन्होंने शिवराज पर हमला करते हुए कहा कि सुन लें शिवराज, नौटंकी बंद करो और दिल्ली जाकर मप्र के बाढ़ प्रभावितों के लिए राहत राशि लेकर आओ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here