एक लड़की के साथ वीडियो कारण गिरी आस्ट्रिया सरकार

0
92

ऑस्ट्रिया में एक रूसी लड़की का वीडियो सरकार गिरने का कारण बन गया। यहां ऑस्ट्रियाई फ्रीडम पार्टी के नेता के रूसी लड़की के साथ लीक हुए वीडियो के बाद शुरू हुआ विवाद बढ़ता जा रहा है। इस स्कैंडल की वजह से ऑस्ट्रिया की मौजूदा सरकार गिर गई और ऑस्ट्रियाई चांसलर सेबेस्टियन कुर्ज़ की विदाई हो गई है।

संसद के विशेष सत्र में बुलाए गए अविश्वास प्रस्ताव में कुर्ज़ समर्थन हासिल नहीं कर पाए। उनके पूर्व सहयोगी फ्रीडम पार्टी और विपक्षी दल सोशल डेमोक्रेट्स ने अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन किया था। ऑस्ट्रियाई राष्ट्रपति एलेक्जेंडर वेन डेर बेलन ने मौजूदा वाइस चांसलर हर्टविग लॉगर को अंतरिम नेता नियुक्त किया है। दरअसल विवाद तब शुरू हुआ जब जर्मन मीडिया में एक वीडियो लीक हुआ जो गुपचुप तरीके से 2017 में स्पेन के द्वीप इबिसा में रिकॉर्ड किया गया था। वीडियो 2017 में देश के चुनाव से पहले का है। जर्मन मीडिया में प्रसारित इस वीडियो के फुटेज में नजर आ रहा है कि फ्रीडम पार्टी के नेता और जर्मनी के मौजूदा सरकार में वाइस चांसलर रहे हेनिज़ क्रिश्चियन स्टार्के अपनी ही पार्टी के अहम नेता जोहान्ना गुडेनस के साथ बात कर हैं।

इस वीडियो में दोनों नेता एक रूसी महिला के साथ बैठे और ड्रिंक्स लेते भी देखे जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि ये महिला किसी रूसी बिजनेसमैन की भतीजी है। इस वीडियो में स्टार्के उस महिला से ऑस्ट्रियाई समाचार पत्र कोरेनेन जिटुंग में बड़ी हिस्सेदारी ख़रीदकर फ्रीडम पार्टी की मदद करने की अपील कर रहे हैं और इसके बदले में मदद देने की बात कर रहे हैं।

इस वीडियो को किसने शूट किया है, इसका पता नहीं चल पाया है लेकिन इसके सामने आने के कुछ ही घंटों के बाद कुर्ज़ ने स्टार्के को हटाने का फ़ैसला लिया और स्टार्के को अपने पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा।इसके बाद फ्रीडम पार्टी के दूसरे मंत्रियों ने भी इस्तीफ़ा दे दिया और इसके बाद से बाद सरकार अल्पमत में आ गई। ऑस्ट्रियाई पीपल्स पार्टी के प्रमुख सेबेस्टियन कुर्ज़, आस्ट्रिया के ऐसे पहले चांसलर बन गए हैं जिनकी सरकार अविश्वापस प्रस्ताव में गिर गई है।

2017 में वे महज 31 साल की उम्र में ऑस्ट्रिया के चासंलर बने थे। संसद में विपक्षी दलों ने दो अविश्वास प्रस्ताव पेश किए थे- एक कुर्ज़ के ख़िलाफ़ और दूसरा सरकार के ख़िलाफ़ और दोनों अविश्वास प्रस्ताव पास हो गए। हालांकि यूरोपीय संघ के रविवार को हुए चुनाव में कुर्ज़ को करीब 35 प्रतिशत मत मिले थे लेकिन यह समर्थन सरकार बचाने के लिए नाकाफ़ी साबित हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here