पंकजा मुंडे ही नहीं, जब सुषमा और प्रियंका ने बदले थे ट्विटर बायो तो मची थी खलबली

0
50

मुंबई: महाराष्ट्र में सरकार बदलते ही भाजपा नेता पंकजा मुंडे के बगावती तेवर देखने को मिल रहे हैं। पंकजा मुंडे ने सोमवार को अपने ट्विटर बायो (@Pankajamunde) से अपनी पार्टी का नाम हटा दिया जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में खलबली मच गई। अफवाहों का बाजार गर्म हो गया कि पंकजा भाजपा छोड़ रही हैं। हालांकि महाराष्‍ट्र भाजपा प्रमुख चंद्रकांत पाटिल ने इन अटकलों से इनकार कर दिया है। यह पहला मौका नहीं है जब किसी राजनेता ने अपने ट्विटर बायो से पार्टी और पोस्ट को हटाया और फिर अफवाहें न उड़ी हों।

सुषमा स्वराज ने भी बदला था बायो
दिवंगत पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने भी अपने ट्विटर बायो से ‘विदेश मंत्री भारत सरकार’ हटा दिया था। उस समय ऐसी अटकलें लगने लगीं कि उन्‍हें साल 2015 में कैबिनेट से हटा दिया गया है क्‍योंकि उन्‍होंने आईपीएल के पूर्व अध्‍यक्ष ललित मोदी की देश से भागने में मदद की थी। लेकिन इसके बाद अगले चार साल तक सुषमा विदेश मंत्री बनी रहीं।

सिंधिया पर भी अटकलें
हाल ही में पिछले महीने कांग्रेस नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने अपने ट्विटर हैंडल @JM_Scindia से अपनी पार्टी ‘कांग्रेस’ का नाम हटाया था। इसके बाद अफवाहों का बाजार गर्म हो गया कि ज्‍योतिरादित्‍य पार्टी बदलने के मूड में हैं। अटकलें यहां तक लगीं कि वे कांग्रेस को अलविदा कह सकते हैं लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

ट्विटर बायो बदलते ही प्रियंका ने छोड़ दी थी पार्टी
पूर्व कांग्रेस प्रवक्‍ता प्रियंका चतुर्वेदी ने इस साल के शुरू में लोकसभा चुनावों के बीच में अपनी ट्विटर प्रोफाइल से ‘एआईसीसी प्रवक्‍ता’ शब्‍द हटा दिए थे और इसके कुछ घंटों बाद ही वे प्रवक्‍ता के रूप में शिवसेना में शामिल हो गईं।

आतिशी ने हटाया था सरनेम मार्लेना
आप पार्टी की नेता आतिशी मार्लेना ने अपने ट्विटर अकाउंट से अपना सरनेम ‘मार्लेना’ हटा दिया था। इतना ही नहीं उन्होंने पार्टी की सभी प्रचार सामग्री से भी हटा लिया था। सरनेम ‘मार्लेना’ हटाने के पीछे उनका मकसद विपक्ष के उन आरोपों का जवाब देना था जिनमेंआतिशी को एक विदेशी और ईसाई बताया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here