अगर नरसिम्हा राव मान लेते गुजराल की सलाह, नहीं होते 84 सिख विरोधी दंगेः मनमोहन सिंह

0
37

नई दिल्लीः पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर बड़ी बयान दिया है। मनमोहन सिंह ने कहा कि अगर उस समय के गृहमंत्री नरसिम्हा राव ने इंद्र कुमार गुजराल की सलाह मान ली होती तो 1984 के सिख दंगे नहीं होते। पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की 100वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए मनमोहन सिंह ने यह सारी बातें कही। मनमोहन सिंह ने कहा कि इंद्र कुमार गुजराल ने 1984 के सिख दंगे रोकने के लिए सेना को तैनात करने की सलाह दी थी लेकिन नरसिम्हा राव ने इस बात को नजरअंदाज कर दिया

मनमोहन सिंह ने कहा कि सिख दंगा भड़कने की रात को गुजराल ने तत्कालीन गृहमंत्री नरसिम्हा राव से मुलाकात की थी और बताया था कि हालात बेहद गंभीर है। गुजरात उस स्थिति को लेकर काफी चिंतित थे। उन्होंने राव को सलाह दी कि सरकार को जल्द से जल्द सेना को बुलाना चाहिए और तैनात करना चाहिए लेकिन तत्कालीन गृहमंत्री ने गुजराल की नहीं सुनी।

मनमोहन सिंह ने कहा कि अगर नरसिम्हा राव गुजराल की सलाह मान जाते तो 1984 का सिख नरसंहार टाला जा सकता था। बता दें कि इंद्र कुमार गुजराल 21 अप्रैल 1997 से लेकर 19 मार्च 1998 तक देश के प्रधानमंत्री रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here