कुमार मंगलम बिड़ला का बड़ा बयान, सरकार ने नहीं दी राहत तो बंद कर देंगे वोडाफोन-आइडिया

0
39

नई दिल्लीः दिग्गज टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया के ग्राहकों के लिए एक बड़ी खबर है। दरअसल आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा कि यदि अपेक्षा के अनुसार सरकारी सहायता नहीं मिली तो वह वोडाफोन आइडिया को बंद कर देंगे। ट्राई के जारी किए गए डाटा के अनुसार वोडाफोन आइडिया के पास 37.5 करोड़ ग्राहक हैं। ऐसे में करोड़ों ग्राहकों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

कंपनी में निवेश नहीं करेगा बिड़ला ग्रुप
दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में कुमार मंगलम बिड़ला ने संकेत दिया कि यदि सरकार से कोई राहत नहीं मिलती है तो उनका समूह कंपनी में कोई भी नया निवेश नहीं करेगी। उन्‍होंने कहा कि अपने पैसे को बर्बाद करने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा कि एजीआर पर यदि सरकार कोई राहत नहीं देती है तो उनकी कंपनी दिवालापन प्रक्रिया के विकल्‍प को चुनेगी।

कॉर्पोरेट इतिहास में कंपनी को सबसे बड़ा तिमाही घाटा
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से एजीआर पर दिए गए फैसले का वोडाफोन-आइडिया पर सबसे ज्यादा असर पड़ा है। इसके कारण कंपनी को दूसरी तिमाही में 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का घाटा हुआ है। यह भारत के कॉर्पोरेट इतिहास में अभी तक का सबसे बड़ा तिमाही घाटा है।  रिलायंस जियो की लॉन्चिंग के बाद टेलीकॉम सेक्टर में बने रहने के लिए कुमार मंगलम बिड़ला ने अफनी आइडिया सेल्युलर का वोडाफोन इंडिया के साथ विलय कर दिया था और नई कंपनी वोडाफोन आइडिया अस्तित्व में आई थी। विलय समझौते के अनुसार वोडाफोन-आइडिया कंपनी में 45.1 फीसदी हिस्सेदारी वोडाफोन के पास है जबकि 26 फीसदी हिस्सेदारी आदित्य बिड़ला ग्रुप के पास है। अन्य शेयरहोल्डर्स के पास 28.9 फीसदी हिस्सेदारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here