घर से आधा घंटे में आने का बोलकर निकला था, 6 घंटे बाद बाद इस हाल में मिला

0
76

भोपाल। हबीबगंज क्षेत्र के मीरा नगर में रहने वाला रोहित (17) गुरुवार सुबह 11 बजे आधे घंटे में लौटने का कहकर घर से निकला था, लेकिन छह घंटे बाद शाम पांच बजे उसकी लाश 12 नंबर स्टॉप के पास निर्माणाधीन बिल्डिंग के पानी के टैंक में मिली। बिल्डिंग के चौकीदार ने लाश को सबसे पहले देखा था। आशंका है कि नहाने के दौरान पानी में डूबने से उसकी मौत हुई, हालांकि करंट लगने की बात भी सामने आ रही है। यह भी बताया जा रहा है उस समय टैंक में तीन फीट तक ही पानी था। स्थिति स्पष्ट नहीं होने के कारण पुलिस पूरे मामले को संदिग्ध मानकर जांच कर रही है। उसे पीएम रिपोर्ट का इंतजार है।

हबीबगंज पुलिस के अनुसार मीरा नगर निवासी रोहित मोरे (17) प्राइवेट नौकरी करता था। उसने आठवीं तक पढ़ाई की थी। वह दो भाइयों में छोटा था। रोहित गुरुवार को घर से सुबह 11 बजे आधे घंटे में लौटने का कहकर निकला था। जब वह समय पर नहीं लौटा तो परिजन उसकी तलाश करने लगे। शाम करीब पौने पांच बजे उसकी लाश 12 नंबर स्टॉप के पास निर्माणाधीन बिल्डिंग के पानी के टैंक में वहां के चौकीदार ने देखी थी। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने रोहित का शव टैंक से बाहर निकलवाया। सब इंस्पेक्टर राहुल राय के अनुसार टैंक करीब 10-11 फीट गहरा है।

पुलिस की जांच के तीन बिंदू

1. डूबने से मौत

रोहित मोरे की मौत को फिलहाल पुलिस संदिग्ध मान रही है। रोहित के कपड़े बाहर मिले हैं। हाफ पेंट में लाश मिली है। इसे सबसे पहले देखने वाले चौकीदार ने भी कहा है कि अक्सर मना करने के बाद भी लोग टैंक में नहाने के लिए उतर जाते हैं। इसी आधार पर पुलिस को आशंका है कि वह नहाने उतरा और डूब गया।

2. करंट लगने की आशंका

टैंक में पानी की सप्लाई करने के लिए एक मोटर लगा रखी है। रोहित को उससे भी करंट लग सकता है, लेकिन यह थ्योरी इसलिए ज्यादा कारगार नहीं है कि उसकी लाश को सबसे पहले दो युवकों ने निकला था, जिन्हें करंट नहीं लगा। आसपास जांच में भी ऐसी बात सामने नहीं आई है।

3. 11 फीट गहरे टैंक में सिर्फ तीन फीट पानी था

बताया जा रहा है कि जिस वक्त रोहित की लाश मिली, उस समय टैंक में सिर्फ तीन फीट तक पानी था। 17 साल का किशोर इतने कम पानी में कैसे डूब सकता है, इसकी भी जांच का विषय है।

पीएम रिपोर्ट से सामने आएगा रोहित की मौत का सच

हबीबगंज थाना प्रभारी सत्यप्रकाश सक्सेना का कहना है कि निर्माणाधीन बिल्डिंग के चौकीदार ने सबसे पहले टैंक में रोहित को मृत हालत में देखा था। रोहित नहाने गहरे टैंक में उतरा होगा, क्योंकि बाहर उसके कपड़े मिले हैं। टैंक में पानी सप्लाई के लिए एक मोटर लगी है। इससे भी रोहित को करंट लगने की आशंका है। पोर्स्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की वजह स्पष्ट हो सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here