ओंकारेश्वर मंदिर के विकास के लिए CM कमलनाथ ने दी 156 करोड़ की योजना को मंजूरी

0
27

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के मंदिरों के कायाकल्प के लिए बड़ी योजना तैयार की है। इसी क्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने महाकालेश्वर मंदिर परिसर की 300 करोड़ की विकास योजना के बाद ओंकारेश्वर मंदिर की 156 करोड़ की विकास योजना को मंजूरी दी है। इस राशि से मंदिर परिसर का कायाकल्प किया जाएगा। उन्होंने मंदिर संचालन के लिए एक्ट बनाने को भी कहा है।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने यह निर्णय ओंकारेश्वर के विकास के संबंध में तैयार योजना की मंत्रालय में समीक्षा बैठक में लिए। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि पूरे देश में मध्य प्रदेश एक मात्र ऐसा राज्य है, जहां 12 ज्योतिर्लिंग में से दो ज्योतिर्लिंग हैं। महाकाल के बाद दूसरा ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर में है। यह स्थल विश्व पर्यटन केन्द्र के रूप में स्थापित हो यह हमारा लक्ष्य होना चाहिए। उन्होंने ओंकारेश्वर विकास योजना को पूरा करने के लिए समय निर्धारित करने को कहा। उन्होंने कहा कि हर विकास कार्य पूरा करने की तारीख तय हो।

मुख्यमंत्री ने मंदिर एक्ट भी शीघ्र तैयार करने को कहा। उन्होंने कहा कि हमारी मंशा है कि अगले शीतकालीन सत्र में यह एक्ट पेश किया जा सके। मुख्यमंत्री ने योजना के शिलान्यास के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी बनाने के निर्देश दिए हैं। यह कमेटी विकास कार्य की प्रगति पर निगरानी रखेगी। ऊँकार सर्किट योजना के अंतर्गत महाकाल-महेश्वर के साथ ओंकारेश्वर विकास की योजना मुख्यमंत्री के निर्देश पर तैयार की गई है। लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री तुलसी सिलावट ने निरंतर योजना बनाने के संबंध में बैठक की और इसे अंतिम रूप दिया। गुरुवार को मंत्रालय में यह योजना मुख्यमंत्री के सामने प्रस्तुत की गई।

वहीं इस योजना में विकास का एक विस्तृत विवरण तैयार किया गया है। इसमें ओंकारेश्वर के प्रवेश द्वार को भव्य बनाना, मंदिर का संरक्षण, प्रसाद काउंटर, मंदिर के चारों और विकास और सौंदर्यीकरण, शॉपिंग काम्प्लेक्स, झूलापुल और विषरंजन कुंड के पास रिटेनिंग वॉल, बहुमंजिला पार्किंग, पहुँच मार्ग परिक्रमा पथ का सौंदर्यीकरण, शेड निर्माण, लैंडस्कैपिंग, धार्मिक, पौराणिक गाथा पुस्तकों की लायब्रेरी, ओंकार आइसलैंड का विकास, गौमुख घाट पुनर्निर्माण, भक्त निवास और भोजनशाला, ओल्ड पैलेस, विष्णु मंदिर, ब्रम्हा मंदिर, चंद्रेश्वर मंदिर का जीर्णोद्धार, ई-साइकिल, ई-रिक्शा सुविधा, बोटिंग, आवागमन, बस स्टेंड, पर्यटक सुविधा केन्द्र सहित अन्य विकास कार्य शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here