दादा-दादी की समाधि के पास दफनाया गया उन्नाव पीड़िता का शव, सैकड़ों नम आंखों ने दी विदाई

0
31

उन्नावः उन्नाव के बिहार क्षेत्र में रविवार को कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच बलात्कार पीड़िता के शव को भू समाधि दे दी गई। पीड़िता के शव को गांव के बाहर उसके पुश्तैनी खेत में दादा, दादी की समाधि के बगल में दफनाया गया। इस दौरान बड़ी तादाद में पुलिस बल और कुछ ग्रामीण मौजूद थे। अंत्येष्टि स्थल पर योगी सरकार के दो मंत्रियों ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। सैकड़ों नम आंखों ने पीड़िता को विदाई दी।

बता दें कि, इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग पर अड़े पीड़िता के परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया था। मृतका की बहन ने कहा कि जब तक सीएम मौके पर नहीं आते और कड़ी कार्रवाई का आश्‍वासन नहीं देते, तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। उन्हें सीएम से खुद बात करनी है। इसके बाद लखनऊ के मंडलायुक्त मुकेश मेश्राम ने परिजनों से करीब आधे घंटे बात की और उन्हें समझाया। मेश्राम ने बताया कि परिजनों को 25 लाख रुपये और प्रधानमंत्री आवास के साथ ही सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी।

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के भाई ने की ऐसी सजा की मांग
इससे पहले, शनिवार को पीड़िता के भाई ने कहा कि उसकी बहन को तभी न्याय मिलेगा जब सभी आरोपियों को वहीं भेजा जाएगा ‘जहां वह चली गई’। उसने मुझसे कहा भाई मुझे बचा लो। बहुत दुखी हूं, मैं उसे बचा नहीं सका। पीड़िता के भाई ने कहा कि आरोपियों को या तो मुठभेड़ में मार गिराया जाना चाहिए या फांसी देनी चाहिए। उन्हें जिंदा रहने का अधिकार नहीं है। आरोपियों ने उसे जला तो पहले ही दिया और अब हम उसे दफन करेंगे।

उन्नाव पीड़िता के परिजनों को 25 लाख रुपये देगी योगी सरकार
उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद योगी सरकार ने उसके परिवार को बतौर मुआवजा 25 लाख रुपये देने का ऐलान किया है। सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि दिवंगत पीड़िता के परिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 25 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है। साथ ही सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत परिवार को एक घर और मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराने का आश्वासन दिया है।

गौरतलब है कि बलात्कार पीड़िता को वहशी दरिंदों ने गुरुवार तड़के उस समय आग के हवाले कर दिया था, जब वह अपने वकील से मिलने रायबरेली जाने के लिए घर से रेलवे स्टेशन के लिए निकली थी। पीड़िता को गंभीर हालत में पहले लखनऊ और बाद में एयरलिफ्ट कर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां शुक्रवार देर रात उसने अंतिम सांस ली। पीड़िता का शव शनिवार रात दिल्ली से सड़क मार्ग द्वारा उसके पैतृक स्थान उन्नाव लाया गया था। इस मामले में पुलिस ने सभी 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here