‘डिग्री वालों की चाय पी लो’ कुछ ऐसा था भारत बचाओ रैली का नजारा

0
33

नई दिल्ली: रामलीला मैदान में आयोजित हुई कांग्रेस की भारत बचाओ रैली को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का स्वागत करने के बाद जब यह कहा कि दिल्ली के लाखों कांग्रेसजन अब आपके आदेश का इंतजार कर रहे हैं। आप हमें जो निर्देश देेंगे, उसे हम सभी पूरा करके दिखाएंगे। यह सुनकर अपने हाथों में तिरंगा लिए बैठे सभी कार्यकर्ता हाथ उठाकर सोनिया गांधी जिंदाबाद-राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। रैली में राजस्थान से आए काफी ग्रामीण नारंगी रंग की पगड़ी बांधे हुए थे, जो दूर से ही नजर आ रहे थे। इसी तरह से मध्य प्रदेश के विभिन्न इलाकों से आए कार्यकर्ता भी नारंगी रंग की पगड़ी पहने हुए थे।

मीडियाकर्मी हुए बेहद परेशान
रैली स्थल पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के सम्बोधन से पहले ही अंदर जाने के लिए सभी द्वार बंद कर दिए गए थे। उसके बाद मीडिया कर्मियों द्वारा रैलीस्थल तक पहुंचने के लिए बनाए गए गेट न.3 के दरवाजे भी बंद कर दिए गए। ऐसा होने के मीडियाकर्मियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। एक सुरक्षा अधिकारी का कहना था गेट पर तैनात सेवादल के पदाधिकारियों ने अपनी-अपनी के लोगों को अंदर जाने दिया, जिसके कारण वहां सभी सीट भर गई। अब मीडियाकर्मी परेशान हो रहे हैं। गेट न. 3 से मैदान के अंदर जाने से वंचित होने पर कुछ मीडियाकर्मियों ने काफी गुस्सा भी जाहिर किया। महिला पत्रकार भी उनमें शामिल थीं। सेवादल के कार्यकर्ता और पदाधिकारी तक उनके साथ काफी रूखा व्यवहार करते दिखाई दिए। वे पत्रकारों को पहचानते तक नहीं थे, जबकि पत्रकार अपने पहचान पत्र तक दिखा रहे थे।

सेल्फी प्वाइंट पर समर्थकों की भीड
ऱैलीस्थल गेट संख्या 3 के बाहर सड़क पर बिल्ले के आकार का एक सेल्फी पाइंट बनाया गया था, जहां सैंकड़ों के संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता राहुल के चित्र के साथ खड़े होकर खींचर सेल्फी लेते दिखाई दे रहे थे। वहां मेले जैसा नजारा दिखाई दे रहा था।

दूर-दूर से आए लोग … महाराजगंज से पूर्व सांसद जितेंद्र सिंह, पूर्व प्रदेश कांग्रेस सचिव शरद कुमार सिंह सैकड़ों समर्थकों के साथ दिल्ली पहुंचे।

नजारा तो देख लें
रैली में लोगों की भीड़ का इसी बात से नजारा लगाया जा सकता है कि जिस समय प्रियंका गांधी अपना भाषण दे रही थीं, तो उस समय भी हजारों लोग रामलीला मैदान के बाहर सड़कों पर इधर-उधर घूम रहे थे। उनका कहना था कि नेताओं के भाषण तो रोजाना ही टीवी पर देख लेते हैं, अब जब दिल्ली आए हैं तो थोड़ा दिल्ली का नजारा तो देख लें।

डिग्री वालों की चाय पी लो
रैलीस्थल के बाहर सड़क पर कई युवक-युवतियां और एनएसयूआई के कार्यकर्ता जोर-जोर से आवाज लगाकर चाय बेच रहे थे। उनका कहना था कि डिग्री वालों की चाय पी लो, नौकरी तो मिली नहीं, अब चाय बेच रहे हैं।

मायूस हुए
राजस्थान के कठपुतली क्षेत्र से रैली तक पहुंचे 86 वर्षीय एक बुजुर्ग रामजीलाल सैनी इस बात को लेकर काफी मायूस दिखे, तो वह सोनिया गांधी और राहुल गांधी को एक नजर नहीं देख सके जबकि दूसरी ओर बिहार के सहरसा से आए मो. नुईमुद्दीन खुद को काफी खुशनसीब मान रहे थे कि वह पहली बार दिल्ली आए तो अपनी आखों से दोनों नेताओं को देख सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here