Delhi Metro: मंडी हाउस-लालकिला समेत दिल्ली के 17 मेट्रो स्टेशन बंद, कई जगह रूट डायवर्जन

0
23

नई दिल्ली। Delhi Metro: नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली में हो रहे प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने बृहस्पतिवार को भी कड़े सुरक्षा इंतजाम किए हैं। इसी कड़ी में दिल्ली पुलिस के कहने पर दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) ने 17 मेट्रो स्टेशनों पर आवागमन बंद कर दिया है। मिली जानकारी के मुताबिक, इन सातों मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं। इतना ही नहीं, यहां पर ट्रेनें भी नहीं रुक रही हैं। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने ट्वीट किया है कि इन स्टेशनों पर मेट्रो ट्रेन नहीं रुकेंगी।

इससे पहले दो दिन पहले मंगलवार को भी नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर इलाके में विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर उत्तर-पूर्व दिल्ली के 17 मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए थे

इससे पहले दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने रेड लाइन रूट पर वेलकम, जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशनों को बंद दिया था।

ये स्टेशन हैं बंद

  1. जसोला (Jasola Vihar)
  2. जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia)
  3. लोक कल्याण मार्ग (Lok Kalyan Marg)
  4. उद्योग भवन (Udyog Bhawan)
  5. आइटीओ (ITO)
  6. प्रगति मैदान (Pragati Maidan)
  7. खान मार्केट (Khan Market)
  8. शाहीन बाग (Shaheen Bagh )
  9. मनीरका (Munirka)
  10. लाल किला (Lal Quila)
  11. जामा मस्जिद (Jama Masjid)
  12. चांदनी चौक (Chandni Chowk)
  13. विश्वविद्यालय Vishwavidyalaya)
  14. पटेल चौक (Patel Chowk)
  15. केंद्रीय सचिवालय (Central Secretariat)
  16. मंडी हाउस (Mandi house)
  17. बाराखंभा (Barakhamba)

सीएए, एनआरसी के समर्थन में निकाला पैदल मार्च

इससे पहले सीएए व एनआरसी के समर्थन में बुधवार शाम सराय जुलैना में लोगों ने पैदल मार्च निकाला। एसडीएमसी स्टैंडिंग कमेटी के डिप्टी चेयरमैन व श्रीनिवासपुरी के निगम पार्षद राजपाल सिंह ने मार्च का नेतृत्व किया। इस दौरान मार्च में काफी संख्या में स्थानीय निवासी, आरडब्ल्यूए पदाधिकारी व भाजपा कार्यकर्ता शामिल हुए। राजपाल सिंह के नेतृत्व में बुधवार शाम पांच बजे काफी संख्या में लोग सराय जुलैना चौराहे पर एकत्रित हुए। इसके बाद चौराहे से पैदल मार्च निकालते हुए लोग एनएफसी थाने पहुंचे। इस दौरान सीएए व एनआरसी के समर्थन में नारेबाजी भी की गई। इसके अलावा उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की गई।

राजपाल सिंह ने बताया कि न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी (एनएफसी) हिंसा के बाद भाजपा व दिल्ली पुलिस के खिलाफ गलत बयानबाजी करने के मामले में दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया व ओखला विधायक अमानतुल्लाह के खिलाफ एनएफसी थाने में शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here