ट्रंप ने ईरान के खिलाफ 5 बड़े देशों से मांगा साथ, कहा- अब सच्चाई को समझें

0
21

वॉशिंगटनः ईरान के साथ बढते टकराव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि ईरान के विनाशकारी बर्ताव को लंबे समय तक दुनिया ने बर्दाश्त किया। अब ईरान के खिलाफ ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, रूस और चीन को एकजुट होकर साथ देना चाहिए। राष्ट्र के नाम संबोधन में ट्रंप ने कहा कि अब समय आ गया कि ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, रूस और चीन को सच्चाई को समझना चाहिए और साथ ही ईरान के साथ साल 2013 में की गई मूर्खतापूर्ण परमाणु डील को खत्म करना चाहिए।

ट्रंप ने ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, रूस और चीन से अपील करते हुए कहा कि अब हमको मिलकर ईरान के साथ एक नई डील करनी चाहिए, ताकि दुनिया को सुरक्षित और पीसफुल बनाया जा सके. उन्होंने कहा कि दुनिया के देशों ने मिडिल ईस्ट समेत अन्य क्षेत्र में ईरान के विनाशकारी व्यवहार को लंबे समय तक बर्दाश्त किया, लेकिन अब वो दिन बीत चुके हैं। ट्रंप ने ईरान पर आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप भी जड़ा। उन्होंने कहा कि ईरान आतंकवाद का प्रयोजक है। उसके परमाणु हथियार हासिल करने से दुनिया को खतरा पैदा हो जाएगा, जो हम कभी नहीं होने देंगे।

ट्रंप ने कहा कि पिछले हफ्ते हमने दुनिया के सबसे बड़े आतंकी कासिम सुलेमानी को ढेर कर दिया था। वह अमेरिकियों के लिए खतरा बन गया था।सुलेमानी को बहुत पहले ही मार दिया जाना चाहिए था।सुलेमानी को मार कर हमने आतंकवाद को कड़ा संदेश दिया है। ट्रंप ने ईरान के मिसाइल हमले में 80 अमेरिकियों के मारे जाने के दावे को भी खारिज कर दिया। ट्रंप ने कहा कि ईरान ने 16 मिसाइलें दागी और इस हमले में किसी भी अमेरिकी सैनिक की मौत नहीं हुई है और न ही कोई बड़ा नुकसान हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here