होम मिनिस्टर अमित शाह बनकर एमपी के गवर्नर लालजी टंडन को दिया आदेश, दो गिरफ्तार

0
27

मध्य प्रदेश के जबलपुर स्थित आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय का कुलपति बनने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के नाम पर राज्यपाल लालजी टंडन को फोन करने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें एक दिल्ली में तैनात सैन्य अधिकारी है.

विशेष कार्य बल (STF) के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ADG) अशोक अवस्थी ने शुक्रवार को बताया कि जबलपुर के आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में कुलपति के लिए आवेदन मंगाए गए थे. भोपाल निवासी डा चंद्रेश शुक्ला ने भी आवेदन किया था और साक्षात्कार भी हो चुका था. शुक्ला ने अपने मित्र विंग कमांडर कुलदीप वाघेला से मदद मांगी था.

अवस्थी के अनुसार वाघेला ने दिल्ली से गृह मंत्री अमित शाह बनकर राज्यपाल टंडन को फोन किया और उन्होंने डॉ. शुक्ला की सिफारिश की. राज्यपाल को आवाज और बात करने के लहजे पर संदेह हुआ तो उन्होंने इसकी जानकारी अपने स्टाफ को दी. जब दिल्ली में फोन लगाकर गृह मंत्री के कार्यालय से इसकी पुष्टि करने की कोशिश की तो पता चला कि राज्यपाल को कोई फोन ही नहीं किया गया.

राज्यपाल कार्यालय की ओर से एसटीएफ को इसकी लिखित शिकायत की गई है. एसटीएफ ने इस मामले में धारा 419 और 420 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. एसटीएफ एडीजी के मुताबिक एयरफोर्स का विंग कमांडर कुलदीप वाघेला पहले मध्य प्रदेश के राज्यपाल निवास पर तैनात रह चुका है, इसलिए उसे जानकारी थी कि फोन पर राज्यपाल से बात कैसे हो पाएगी. उसने इसी का फायदा उठाने की कोशिश की लेकिन पकड़ा गया.

एडीजी अवस्थी ने बताया कि शिकायत के आधार पर जांच की गई. उसके बाद वाघेला को दिल्ली से और डॉ. शुक्ला को भोपाल से गिरफ्तार कर लिया गया. इस बात की जांच की जा रही है कि इन लोगों ने इस तरह किसी और को तो धोखा नहीं दिया है. अपने दोस्त को कुलपति बनाने के लिए ऐसे काम के बारे में सुनकर बड़े से बड़े अधिकारी भी चकरा गए. इस शख्स ने किसी आम आदमी या सरकारी अधिकारी को नहीं, बल्कि सीधे राज्यपाल को ही आदेश दे डाला.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here