ई-टेंडर घोटाला:मनीष खरे के ठिकानों पर EOW का छापा, संदिग्ध दस्तावेज और बैंक खातों के रिकॉर्ड जब्त

0
59

भोपाल: सोमवार को आर्थिक अपराध अन्वेषण प्रकोष्ठ ने छापेमार कार्रवाई की। जिसमें बहुचर्चित ई-टेंडर घोटाले में जल संसाधन विभाग के तीन टेंडरों में टेम्परिंग कर दलाली लेने के आरोपित मनीष खरे के दो ठिकानों पर छापेमारी की। यह कार्रवाई बेनामी संपत्ति की सूचना पर की गई। छापे में कई संदिग्ध दस्तावेज और बैंक खातों के रिकॉर्ड जब्त किए गए हैं।

जानकारी के अनुसार, बड़ौदा की सोरठिया वेलजी एंड रत्न कंपनी को जल संसाधन विभाग के टेंडर दिलाने में मनीष खरे की मुख्य भूमिका थी। जिसके मद्देनजर सोमवार को मनीष खरे के आर्चर्ड पैलेस कोलार रोड पुराने निवास पर ईओडब्ल्यू की टीम पहुंची। इसके बाद वर्तमान निवास चूनाभट्टी के अमलतास स्थित घर की भी टीम ने तलाशी की। मनीष के दोनों ठिकानों से ईओडब्ल्यू की टीमों को कई दस्तावेज मिले हैं, जिनमें बैंक खातों के रिकॉर्ड भी हैं। जिससे कई बड़े खुलासे होने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here