ब्यावरा मामले पर गर्माई राजनीति, दिग्विजय ने कहा BJP की गुंडागर्दी सामने आई, शिवराज ने की FIR की मां

0
26

राजगढ़: मध्य प्रदेश में राजगढ़ जिले के ब्यावरा में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में रविवार को निकली तिरंगा महारैली में प्रशासनिक अधिकारियों और प्रदर्शनकारियों की भीड़ में झड़प के बाद बीजेपी और कांग्रेस के बीच राजनीति शुरू हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर पर आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग की है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने इस पूरे घटनाक्रम को बीजेपी की गुंडागर्दी करार दिया है। बीजेपी का एक प्रतिनिधि मंडल मामले की जांच के लिए आज दोपहर तक ब्यावरा जाएगा।

पुलिस ने 124 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन का प्रकरण दर्ज किया है। वहीं डिप्टी कलेक्टर को लात मारने पर दो लोगों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा सहित चोटी पकड़कर मारपीट करने की कायमी की है। अब तक 17 बीजेपी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूरे कस्बे में भारी सुरक्षाबल तैनात किया गया है। पुलिस धारा-144 का कढ़ाई से पालन करा रही है।

Shivraj Singh Chouhan

@ChouhanShivraj

राजगढ़ की घटना से मैं स्तब्ध हूँ!

हाथों में तिरंगा झंडा लिये, ‘भारत माता की जय’ और ‘वंदेमातरम’ के नारे लगा रहे लोगों के साथ ऐसी बर्बरता की जायेगी, इसकी मैंने कल्पना भी नहीं की थी।

यह मध्यप्रदेश में क्या हो रहा है?

Embedded video

1,692 people are talking about this
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में रविवार को दोपहर एक बजे शहर में 10 संगठनों ने महारैली निकालने का ऐलान किया था। इसके लिए सुबह 11 बजे से ही पूर्व तय कार्यक्रम के अनुसार मां वैष्णोदेवी मंदिर परिसर में लोगों की भीड़ जमा होने लगी थी। वहां तैनात पुलिस कर्मियों ने इसकी जानकारी आला अधिकारियों को दी तो कलेक्टर तुरंत मौके पर पहुंची। महारैली को रोकने खुद कलेक्टर ने भीड़ में लोगों को पकड़ पकड़कर थप्पड़ मारे। रैली को रोकने की कोशिश में कलेक्टर निधि निवेदिता ने राजगढ़ के पूर्व बीजेपी विधायक अमरसिंह यादव की कॉलर पकड़कर खदेड़ा। वहीं उग्र हुई भीड़ ने महिला डिप्टी कलेक्टर की चोटी पकड़कर कमर पर लात और घूंसे मारे। भीड़ को संभालने पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया जिसमें 3 नेता घायल हो गए।

रविवार दोपहर ब्यावरा में हुई इस घटना के बाद राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह ने इस घटना को लोकतंत्र का काला दिन करार देते हुए कहा है कि वे खुद 22 जनवरी को ब्यावरा जाएंगे। शिवराज ने कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर पर आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई तो बीजेपी कोर्ट में जाएगी।

digvijaya singh

@digvijaya_28

मप्र के राजगढ़ में भाजपा की गुण्डा गर्दी सामने आ गयी। महिला ज़िला कलेक्टर और महिला एसडीएम अधिकारीयों को पीटा गया बाल खींचे गये। महिला अधिकारीयों की बहादुरी पर हमें गर्व है।

1,646 people are talking about this
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर पूरी घटना को बीजेपी कार्यकर्ताओं को बीजेपी की गुंडागर्दी करार दिया है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि ‘मध्य प्रदेश के राजगढ़ में बीजेपी की गुंडागर्दी सामने आ गई। महिला जिला कलेक्टर और महिला एसडीएम अधिकारियों को पीटा गया बाल खींचे गए। महिला अधिकारीयों की बहादुरी पर हमें गर्व है।’ घटना की जांच करने बीजेपी का एक प्रतिनिधि मंडल पूर्व मंत्री एवं विधायक विश्वास सारंग के नेतृत्व में राजगढ़ पहुंचेगा। प्रतिनिधि मंडल की रिपोर्ट के बाद बीजेपी के बड़े नेता शिवराज सिंह के नेतृत्व में ब्यावरा जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here