सरकारी अधिकारी चापलूसी करना छोड़ें नहीं तो BJP सरकार आने पर होगी दुर्गति: नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव

0
26

रतलाम: मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने सरकारी अधिकारियों को चापलूसी छोड़ने और अपनी सरकार आने पर उनकी दुर्गति करने की खुली चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि मैं चेतावनी दे रहा हूं कि अधिकारी चापलूसी करना छोड़ दें, पता नहीं किस दिन निजाम बदल जाएगा, क्योंकि वक्त का कोई ठिकाना नहीं है। इसके बाद उनकी जो दुर्गति होगी उसकी अभी से कल्पना कर लें। नौकरी करने लायक नहीं रहेंगे।

नेता प्रतिपक्ष भार्गव यहां एक एनजीओ द्वारा स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर के फोटो वाले रजिस्टर बांटने पर प्रिंसिपल को निलंबित करने के मामले में बोल रहे थे। वहीं मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कलेक्टर, एसपी हो या कमिश्नर सभी सरकार की चापलूसी कर रहे हैं। बदले की भावना से काम कर रहे हैं। अधिकारी कांग्रेस सरकार की इतनी चापलूसी कर रहे हैं कि सरकार घुटने टेकने के लिए कहती है तो षाष्टांग लेट जाते हैं। कांग्रेस सरकार चाहती है कि स्कूलों में आप ब्लू फिल्म बांटो। आप सीडी बनाकर भिजवा दो। वे यहां खेल चेतना मेले का शुभारंभ करने आए थे।

सांसद जीएस डामोर ने प्रशासनिक अधिकारियों की शिकायत की तो नेता प्रतिपक्ष भार्गव ने कहा अधिकारी तो वैश्याओं से भी ज्यादा कपड़े बदलते हैं। उन्हाेंने कहा पूरी सरकार ही हनी ट्रैप में फंसी हुई है, अधिकारी भी। वीर सावरकर एनजीओ ने उनको सावरकर के फोटो वाला रजिस्टर भेंट किया तो भार्गव ने कहा कि गोड़से की तस्वीर छपवाना हो तो छपवाओ।

वीर सावरकर एनजीओ के प्रभु नेका व मधु शिरोड़कर ने भार्गव से शिकायत की तो उन्होंने कहा प्रिंसिपल साहब को कह दो चिंता करने की जरूरत नहीं है, उनको इंदौर हाई कोर्ट से स्टे दिलवा देंगे। स्टे दो मिनट में मिल जाएगा। प्रिंसिपल को हटाकर इस सरकार ने बड़ा पाप किया है, इसके लिए उनको माफी भी मांगना पड़ेगी और बहाल भी करना पड़ेगा। आगे से ऐसा काम भी नहीं करेंगे। मैं स्कूल में कुछ बांटने जाऊ और प्रिंसिपल के रोकने पर भी नहीं रुकूं तो क्या वो हमसे युद्ध करेगा। प्रिंसिपल को निलंबित करने का मुद्दा विधानसभा में भी उठाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here