शंकराचार्य स्वरूपानंद को गले में इंफेक्शन और सांस लेने में तकलीफ, जबलपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती

0
34

जबलपुर: शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती गले में इंफेक्शन के कारण बीमार हैं। तबीयत बिगड़ने पर उन्हें जबलपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शंकराचार्य को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। डॉक्टरों का कहना है चिंता की कोई बात नहीं है।

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती को सांस लेने में तकलीफ और सर्दी के कारण जबलपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्हें एक निजी अस्पताल के एआईसीयू में एडमिट कराया गया है। वहां वो डॉक्टरों की सघन देखरेख में हैं। डॉक्टरों ने जानकारी देते हुए बताया कि फिलहाल उनकी हालत ठीक है और एक-दो दिन में उनकी हालत में सुधार होने की उम्मीद है।

शंकराचार्य के अस्वस्थ होने और अस्पताल में भर्ती की खबर जैसे ही फैली, उनके शुभचिंतक और शिष्य चिंतित हो गए। शंकराचार्य को देखने और उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना के साथ लोग अस्पताल पहुंचे। दूर-दूर से उनके शिष्य उनके हालचाल जानने आ रहे हैं। मध्य प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष एनपी प्रजापति भी शंकराचार्य को देखने अस्पताल पहुंचे। गले में इंफेक्शन के कारण शंकराचार्य को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। सर्दी के कारण परेशानी बढ़ने पर उन्हें अस्पताल लाया गया। फिलहाल डॉक्टर गले की परेशानी के साथ-साथ उनका रूटीन चेकअप भी कर रहे हैं। इससे पहले पिछले साल भी शंकराचार्य की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था।

95 साल की उम्र पार कर चुके शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती रूटीन चेकअप के लिए जबलपुर आते रहते हैं। स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के चलते उन्हें इससे पहले भी कई बार अस्पताल में दाखिल किया जा चुका है, लेकिन इस बार उन्हें गले में ज्यादा तकलीफ के कारण देर शाम गोटेगांव से सीधे जबलपुर लाकर एडमिट किया गया। फिलहाल डॉक्टरों का कहना है कि किसी तरह की चिंता की बात नहीं है। डॉक्टरों के मुताबिक एहतियातन उन्हें एआईसीयू में रखा गया है। उनकी हालत स्थिर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here