चीन कोराना वायरस: वुहान में फंसे 700 भारतीय छात्र, दूतावास ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

0
33

बीजिंगः चीन में खतरनाक स्तर पर फैल चुके कोरोना वायरस के कारण बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास ने एडवाइजरी  व हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। चीन का वुहान शहर में कोरोना वायरस सबसे ज्यादा प्रकोप है। वुहान सेंट्रल चीन का घनी आबादी वाला शहर है जहां करीब 700 भारतीय छात्र हैं। अधिकतर मेडिकल की पढ़ाई करते हैं । शहर बंद होने के कारण भारतीय स्टूडेंट को खासी दिक्कत हो रही है। भारतीय दूतावास ने चीन में फंसे छात्रों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर +8618612083629 और +8618612083617 जारी किया है।

PunjabKesari

भारतीय दूतावास ने जारी किए ये निर्देश

  • भारतीय दूतावास ने निर्देश दिए हैं कि ची न जाने वाले भारतीय यात्री संभव हो सके तो मास्क लगाकर रहें।
  • खासकर सार्वजनिक जगहों पर मास्क का इस्तेमाल करें ।
  • कुछ भी खाने-पीने से पहले या किसी से हाथ मिलाने के बाद अच्छी तरह हाथ धोएं। जब भी छीकें या खासें तो अपना मुंह ढंक लें।
  • जिन भी लोगों में बीमारी के लक्षण दिख रहे हों उनसे दूरी बनाए रखें।
  • \दूतावास ने कहा है कि जानवरों के संपर्क से भी दूर रहें। पशु बाजार, फार्म्स में जाने से बचें।
  • अगर यात्री खुद को बीमार महसूस करता है, तो वह एयरलाइन्स के क्रू से संपर्क कर सकता है।
  • भारतीय दूतावास ने ये भी निर्देश दिया कि अगर बहुत जरूरी न हो, तो चीन की यात्रा न करें।

इस बार दूतावास में नहीं मनेगा गणतंत्र दिवस
कोरोनावायरस की वजह से बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास ने इस बार गणतंत्र दिवस नहीं मनाने का ऐलान किया है. दूतावास ने ट्वीट किया, ‘चीन में कोरोनावायरस के प्रसार और सार्वजनिक सभाओं, कार्यक्रमों को रद्द करने के चीनी अधिकारियों के निर्णय के कारण भारतीय दूतावास ने 26 जनवरी को आयोजित होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह को रद्द करने का फैसला किया है.’ बता दें कि इस बीमारी के कारण चीन में अबतक 41 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 1300 से अधिक संक्रमित हो गए हैं। राजधानी बीजिंग में इस बीमारी के अब तक 26 मामले सामने आए हैं।ऐसे में भारतीय दूतावास ने इस बार गणतंत्र दिवस समारोह । कार्यक्रम रद्द कर दिया है।

चीन में कोरोना वायरस से डॉक्टर की मौत
 चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस से शनिवार को एक डॉक्टर की मौत हो ई। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार में चीन में कोरोना वायरस से किसी डॉक्टर के मरने की यह पहली घटना है। साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट अखबार ने बताया है कि हुबेई शिन्हुआ अस्पताल में कार्यरत 62 वर्षीय डॉक्टर लियांग वुडोंग को 18 जनवरी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और दो दिन बाद उनमें कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए। अखबार ने बताया है कि चीन में सरकारी आंकड़ों से अधिक डॉक्टर इस संक्रमण से ग्रसित हैं। चीन में कोरोनावायरस से पहला मामला गत वर्ष दिसंबर के आखिर में सामने आया था और मौजूदा समय में इसने महामारी का रूप धारण कर लिया है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार चीन में 1,287 लोग इस वायरस से ग्रसित हैं और अब तक 41 लोगों की इस संक्रमण से मौत हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here