चीन में फैले कोरोना वायरस ने भारत में दी दस्तक, MP में एडवाइजरी जारी

0
30

भोपाल: चीन में फैले कोरोना वायरस से लगातार हो रही मौतों के बाद भारत में भी दो संदिग्ध पाए गए हैं। इसे लेकर भारत सरकार की एडवाइजरी के बाद अब मध्य प्रदेश सरकार ने भी सतर्कता बरतते हुए प्रदेश में एडवाइजरी जारी की है। कोरोना वायरस के बारे में लोगों में जागरुकता लाने और रोकथाम के लिए स्वास्थय विभाग को विशेष कदम उठाने को कहा गया है। कोरोना वायरस से बचाव के उपाय ये वायरस क्या है इसके बारे में व्यापक प्रचार किया जाएगा। बताया जा रहा है कि अब तक चीन में इस वायरस से 26 लोगों की मौत हो चुकी और 830 लोग संक्रमित है। वहीं अब कोरोना वायरस ने भारत में भी दस्तक दे दी है हाल ही में मुबंई में इस वायरस के 2 संदिग्ध मरीज पाए गए हैं।

क्या है कोरोना वायरस
कोरोना वायरसों का एक ऐसा बड़ा समूह है जो जानवरों में आमतौर पर पाया जाता है। अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDS) के अनुसार, कोरोना वायरस जानवरों से मनुष्यों तक पहुंच जाता है। इसकी स्थिति मिडल ईस्ट रेस्पाइरेट्री सिंड्रोम (MERS) और सेवल एक्युट रेस्पाइरेट्री सिंड्रोम (SARS) से काफी मिलती जुलती है।

कैसे फैलता है? 
WHO के अनुसार, कोरोना वायरस एक जूनोटिक है। जो जानवरों को खाने से मनुष्य में पहुंचता है। यह वायरस जानवरों से मनुष्यों तक और अब मनुष्य से मनुष्य में फैल रहा है। हाल ही में सोशल मीडिया में वायरल वीडियो के अनुसार, एक लड़की द्वारा चमगादड़ खाने से यह वायरस फैला है लेकिन अभी इस बात की सत्यता सामने नहीं आई है। कोरोना वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के संपर्क में आने से, खांसी, छींक या हाथ मिलाना के जरिए स्वस्थ व्यक्ति में फैल जाता है। इतना ही नहीं संक्रमित व्यक्ति के छूने और फिर अपने मुंह, नाक या आंखों को छूने से भी वायरस का संक्रमण हो सकता है।

लक्षण
तेजी से नाक बहना, खांसी, गले में खराश, हल्का सिरदर्द और बुखार शामिल है, जो कुछ दिनों तक रह सकता है। यह वायरस ज्यादातर कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों के लिए ज्य़ादा घातक है। बुजुर्ग और बच्चे इसके आसानी से शिकार होते हैं। इसके अलावा निमोनिया, फेफड़ों में सूजन, छींक आना, अस्थमा का बिगड़ना भी इसके लक्षण हो सकते हैं।

उपचार
बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस का फिलहाल कोई इलाज नहीं है सिर्फ सावधानी ही बचाव है। किसी बीमार, झुकाम, निमोनिया से ग्रसित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें। मास्क पहनें। अपनी आंखों, नाक और मुंह को न छुएं। हाथों को बार बार अच्छे से साबुन से धोएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here