पार्लर में चल रही थी जिस्मफरोशी, आपत्तिजनक हालत में लड़कों संग मिली विदेशी लड़कियां

0
29

अमृतसर: अमृतसर के पॉश इलाके क्वींस रोड पर स्थित 3 मसाज एवं स्पा सैंटरों पर पुलिस ने रेड कर करीब 1 दर्जन विदेशी युवतियों सहित 23 लोगों को हिरासत में लिया हैं, इनमें कुछ नाबालिग भी हैं। इन मसाज सैंटरों में विदेशी युवतियों से देह व्यापार धंधा करवाया जा रहा था। कानूनी कार्रवाई का हवाला देकर फिलहाल पुलिस द्वारा मामले में मसाज की आड़ में होने वाले अवैध कारोबार की पुष्टि नहीं की जा रही है, जबकि पुलिस मामला दर्ज कर सभी आरोपियों की मैडीकल जांच करवाने की प्रक्रिया कर रही है।

बड़े स्तर पर हुई छापामारी में ए.डी.सी.पी. संदीप मलिक, ए.सी.पी. परविन्द्र कौर, ए.सी.पी. सर्बजीत सिंह बाजवा के अतिरिक्त थाना सिविल लाइन के इंचार्ज इंस्पैक्टर शिवदर्शन व भारी पुलिस फोर्स शामिल थी। पुलिस कमिश्नर डा. सुखचैन सिंह गिल को सूचना मिली थी कि क्वींस रोड पर स्थित स्पा सैंटरों में मसाज की आड़ में अवैध कारोबार चल रहा है, जिस पर आई.पी.एस. अधिकारी की अध्यक्षता में एक छापामारी टीम ने आज देर रात 1 स्पा सैंटरों पर रेड डाली, जिनमें माई स्पा एंड सैलून, डायमंड स्पा सैंटर व 13 स्पा एन सैलून शामिल हैं, जहां से विदेशी युवतियों के अतिरिक्त स्पा सैंटरों के मैनेजरों व ग्राहकों को पुलिस हिरासत में लेकर गाडिय़ों में बिठा थाने ले गई।

तलब किए जा रहे हैं पासपोर्ट
स्पा सैंटरों से हिरासत में ली गई थाईलैंड की लड़कियों के पासपोर्ट तलब किए जा रहे हैं, जिससे पता लग सके कि वे किस तरह के वीजा पर भारत आई थीं और कब से यहां रह रही हैं। उनके पास मसाज सैंटरों में काम करने का वर्क परमिट है या नहीं। थाईलैंड से आई इन लड़कियों के वीजे व अवैध रूप से काम करने की पूरी रिपोर्ट बनाकर थाना सिविल लाइन की पुलिस गृह एवं विदेश मंत्रालय को भेजेगी, ताकि उन पर कानूनी कार्रवाई करने के बाद उन्हें वापस उनके देश डिपोर्ट किया जा सके। थाना सिविल लाइन के इंचार्ज इंस्पैक्टर शिवदर्शन ने देर रात मसाज सैंटरों पर छापामारी की पुष्टि कर दी।

पुलिस कार्रवाई का विरोध
अपने रिश्तेदारों को हिरासत में लिए जाने की खबर सुनकर थाने पहुंची अनीता कुमारी 3 मसाज सैंटरों पर हुई कार्रवाई के विरोध में बोली कि पुलिस ने किसी साजिश के तहत कार्रवाई की है, जबकि शहर में 100 से अधिक मसाज सैंटर चल रहे हैं, जहां अवैध कारोबार होता है। इन्हीं 3 मसाज सैंटरों को क्यों निशाना बनाया गया। इसके पीछे पुलिस की कोई गहरी चाल है। इस मामले में विदेशी कानून के तहत कार्रवाई होनी है, इसलिए सुबह पूरे मामले की जानकारी दी जाएगी। जब तक कानूनी प्रक्रिया पूरी नहीं होती तब तक इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी जा सकती। इस मामले में विदेशी लड़कियां पकड़ी गई हैं इसलिए यह मामला फॉरेन एक्ट के अधीन आता है। -सर्वजीत सिंह, ए.सी.पी. नार्थ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here