यूपी में CAA-NRC के खिलाफ भारत बंद के पोस्टर लगने से मची खलबली, पुलिस अलर्ट

0
41

मेरठः नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) के विरोध में यूपी में भारत बंद के पोस्टर लगने से खलबली मच गई है। सीएए के खिलाफ बुधवार को कुछ संगठनों ने भारत बंद का ऐलान किया है। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस प्रशासन अलर्ट है। फिरोजाबाद में भारत बंद के पोस्टर दिखाई दिए। वहीं मेरठ में इसका असर देखने को मिल रहा है। सोशल मीडिया भी इससे अछूता नहीं है। ट्वीटर पर आज #आज_भारतबंद_है ट्रेंड कर रहा है, साथ ही #भारत_बंद_नहीं_होगा भी ट्रेंड कर रहा है।

फिरोजााद में सुबह दुकाने रहीं बंद
फिरोजााद में आज सुबह मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में दुकानें बंद रही। पुलिस ने सख्ती से कई स्थानों से पोस्टर हटवाए। कोई अप्रिय घटना ना हो, इसके लिए संवेदनशील स्थानों पर पुलिस बल तैनात है।

बागपत में भी दिखा असर
बागपत के कस्बा बड़ौत में फूंस वाली मस्जिद के पास नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में भारत बंद का असर देखने को मिला। कानून का विरोध प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों ने जबरन दुकानें बंद कराई और कई दुकानों पर कानून के खिलाफ विरोध में लिखे हुए पैम्फलेट चिपका दिए। जिसकी सूचना पर पहुंची पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा जिनमे दर्जनों युवक पुलिस को देख भाग खड़े हुए जबकि तीन लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

अमरोहा में भारत बंद के पोस्टर भी चस्पा किए गए
अमरोहा में भारत बंद का मिलाजुला असर देखने को मिला। हसनपुर इलाके में असामाजिक तत्वों द्वारा भारत बंद के पोस्टर लगाए गए। यहां पर जमीयत उलेमा ए हिंद के शहर सदर द्वारा बंद का आह्वान किया गया था। हसनपुर कोतवाली इलाके में में बाजार बंद रहे। इस दौरान असामाजिक तत्वों द्वारा नगर के बाजार में भारत बंद के पोस्टर भी चस्पा किए गए। जिनको पुलिसकर्मियों द्वारा हटाया गया।

जबरन बंद कराने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी- मेरठ SSP
वहीं उत्तर प्रदेश के मेरठ में सीएए, एनआरसी और ईवीएम के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा की ओर से तथाकथित बंद पर एसएसपी अजय साहनी ने कहा है कि मेरठ में कोई बंद नहीं है। जबरन बंद कराने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी। शहर में अतिसंवेदनशील 18 प्वाइंट चिह्नित किए गए हैं। सुरक्षा के पूरे इंतजाम हैं। दो कंपनी आरएएफ और दो कंपनी पीएसी को रिजर्व में रखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here