इस CRPF ऑफिसर ने अब तक उतारे 50 आतंकी मौत के घाट, मिल चुके हैं 6 मेडल

0
31

नई दिल्ली: कश्मीर में तैनात CRPF के ऑफिसर नरेश कुमार को लेकर इन दिनों चर्चा का बाजार गर्म है। नरेश को बीते चार साल में वीरता के लिए 6 पदकों से नवाजा जा चुका है। बता दें कि नरेश इन दिनों सीआरपीएफ क्रैक कमांडो यूनिट की क्विक एक्शन टीम के प्रमुख हैं। उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने अब तक अलग-अलग ऑप्ररेशन में 50 आतंकियों को मार गिराया है।

छठी बार मिला पदक
इस बार नरेश कुमार को छठी बार वीरता पदक से नवाजा गया है। यह पदक उन्हें 2018 के छतरबाल ऑपरेशन के लिए दिया गया। इन ऑपरेशन में उनकी टीम ने लश्कर ए तैयबा के कमांडर शौकत अहमद ताक को मार गिराया था। अहमद उस वक्त मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों में शामिल था।  ऑपरेशन की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भी तारीफ की थी।

एनकाउंटर स्पेशलिस्ट से हैं मशहूर
साल 2017 में उन्हें पहली बार वीरता के लिए प्रतिष्ठित पुलिस पदक मिला था। वहीं साल 2016 में कश्मीर के नौहट्टा चौक पर पुलिस चौकी पर आतंकियों ने हमला कर दिया था। इसके बाद नरेश कुमार के नेतृत्व में CRP टीम ने मोर्चा संभाला व आतंकियों का सफाया किया। इसके अलावा नरेश कुमार की टीम ने दिसंबर में अरवानी क्षेत्र में हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर को ढेर किया था।

पिता की विरासत को बढ़ाना चाहते हैं आगे
नरेश कुमार होशियारपुर (पंजाब) के रहने वाले हैं। साल 2013 में सीआरपीएफ में शामिल हुए और उनकी पहली पोस्टिंग कश्मीर में हुई थी। साल 2016 में एनकाउंटर के लिए सीआरपीएफ ने क्विक एक्शन टीम तैयार की जिसकी जिम्मेदारी नरेश कुमार को दी गई। वही नरेश कुमार की पत्नी शीतल रावत भी सहायक कमांडेंट है। पिता सेना से रिटायर हैं। इसके अलावा उनका चचेरा भाई भी आर्मी में है। उसे भी सेना का मेडल मिल चुका है। नरेश कुमार का कहना है कि वो पिता की विरासत को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here