मध्यभारत प्रांत का तीन दिवसीय शिविर प्रारंभ, संघ प्रमुख आज करेंगे युवा संकल्प शिविर को संबोधित

0
28

गुना। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का मध्यभारत प्रांत का तीन दिवसीय युवा संकल्प शिविर शुक्रवार से प्रारंभ हो गया। शाम करीब साढ़े सात बजे संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत गुना पहुंचे। वे शनिवार को शिविर को संबोधित करेंगे।

भागवत कड़ी सुरक्षा के बीच शिविर स्थल पहुंचे

डॉ. भागवत कड़ी सुरक्षा के बीच शिविर स्थल पहुंचे। शिविर स्थल पर उनके लिए भील समुदाय के किसानों ने ताड़ के पत्तों और बांस से आवास तैयार किया है। गुना पहुंचने से पूर्व डॉ. भागवत दो घंटे भोपाल में भी रुके। संघ मुख्यालय समिधा में उन्होंने वरिष्ठ पदाधिकारियों से मुलाकात की। कुछ देर के लिए वे हेमंत मुक्तिबोध के निवास पहुंचे, जहां उन्होंने उनके नवविवाहित बेटे-बहू को आशीर्वाद दिया।

कॉलेज की बात करते ही जेएनयू-जामिया की छवि आ जाती है: अरुण कुमार

शिविर का शुभारंभ संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार और मध्य भारत प्रांत के सह-संघचालक अशोक पांडे ने कि या। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज कॉलेज के छात्र कहते ही लोगों के दिमाग में अनुशासनहीनता की छवि आ जाती है। वह जेएनयू और जामिया की बातें सोचते हैं, जबकि वास्तविकता इससे अलग है।

युवा अवस्था में होती है समाज को बदलने की क्षमता

दरअसल, युवा अवस्था एकमात्र ऐसी अवस्था होती है, जिसमें व्यक्ति समाज को बदलने की क्षमता रखता है। इस वक्त व्यक्ति पूर्वाग्रहों से मुक्त होता है। उसमें कुछ करने की ऊर्जा होती है। वह गलत के प्रति लड़ने का प्रयास करता है और उसके पास पूरा जीवन होता है, अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए। उन्होंने कहा कि आने वाला समय भारत का है और इसके लिए आवश्यक है कि भारत का हर युवा अपनी क्षमताओं का संपूर्ण विकास करें।

युवा चाहें तो भारत विश्वगुरु बन सकता है

उन्होंने शिविरार्थियों से अपील की कि वह समाज की किसी समस्या की पहचान करें और उसको खत्म करने को अपना लक्ष्य बनाएं। भारत के युवाओं ने अगर ऐसा किया तो हम अपने जीवन काल में ही भारत को विश्वगुरु बनते देखेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here