YouTube पर फेमस ‘फकेरु’ की थाने में पिटाई से मौत, बनाता था फनी वीडियो

0
40

नई दिल्ली: हाल में यू ट्यूब से फेमस हुए फकेरु उर्फ गोविंदा को दोस्ती उस समय भारी पड़ी जब वह दोस्त के कहने पर आटो में बैठा और पुलिस ने चैकिंग के दौरान शराबी दोस्त के साथ उसे पकड़ लिया। यही नहीं, पुलिस ने उसे थाने में ले जाकर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई। हालांकि मामले में पुलिस ने कमी छिपाते हुए तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है, लेकिन किसी भी पुलिसकर्मी के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है। बताया जाता है कि जब फकेरु का शव परिजनों को सौंपा गया तो उसकी पूरे शरीर पर चोट के निशान थे। परिजनों ने भी कहा है कि उनका बेटा एक सीधा इंसान था और पुलिस ने उसे रात में 50 हजार रुपए न देने पर इतना मारा कि उसकी जान चली गई।

ताहिरपुर ई ब्लॉक में रहता था गोविंदा
जानकारी के मुताबिक गोविंदा परिवार के साथ ताहिरपुर ई ब्लॉक में रहता था। उसके परिवार में पिता रामगुलाम यादव, दो भाई गौतम और गोपाल हैं। गोविंदा मजदूरी के अलावा एक स्ट्रगलर एक्टर भी था। हाल में उसने एक फकेरु के नाम से यू ट्यूब पर वीडियो बनाया था जो काफी मशहूर भी रहा था। बताया जाता है कि वीरवार सुबह गोविंदा अपने घर के बाहर टहल रहा था। इसी बीच उसका एक दोस्त शराब पिलाने की बात कहकर अपने साथ ऑटो में ले गया। जैसे ही वह सुंदर नगरी इलाके में पहुंचे, तभी पुलिस की एक टीम ने उस ऑटो में छापा मारकर 17 पेटी शराब बरामद की और उसके बाद युवक और उसके दोस्त को पुलिस हिरासत में लेकर जांच के लिए थाने ले गई। परिजनों का कहना है कि उन्हें नहीं पता था कि गोविंदा किसके साथ गया था और कहां गया था। बस उन्हें ये पता था कि वह कहीं माल उतरवाने जा रहा है। अगर गोविंदा को यह पता होता कि उन पेटियों में शराब है, तो वह उस काम के लिए कभी नहीं जाता। अगले दिन परिजनों को पता चला कि गोविंदा की मौत हो गई है।

 यू-ट्यूब पर बनाता था फनी वीडियो 
गोविंदा को एक्टिंग का भी काफी शौक था। उसने अपने लगभग एक दर्जन से अधिक दोस्तों की टीम बनाकर यू-ट्यूब पर जार्स टीम नाम से चैनल बना रखा है। उनकी टीम कॉमेडी, सामाजिक समस्याएं और भ्रष्टाचार पर वीडियो बनाती है। गोविंदा ही टीम को लीड करता था। टीम मेम्बर्स ही वीडियो को शूट और एडिट करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here