पाकिस्तान से लगी सीमा पर बढ़ाई जा रही स्पाइक एंटी-टैंक मिसाइल और हथियारों की संख्या

0
33

नई दिल्ली। भारत ने पाकिस्तान से लगी सीमा पर आतंकवादियों की घुसपैठ को रोकने और अन्य गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (ATGM) तैनात करना शुरू कर दिया है। इसके अलावा अन्य हथियार भी सीमा पर तैनात किए जा रहे हैं जिससे आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया जा सके और आतंकी गतिविधियों को नाकाम किया जा सके।

इन मिसाइलों और हथियारों की संख्या सीमा पर बढ़ाए जाने के बाद सीमा पर मजबूती बढ़ सकेगी। भारत के सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने गुरुवार को खुलासा किया कि देश ने नियंत्रण रेखा (नियंत्रण रेखा) के किनारे सिग सोएर असॉल्ट राइफल्स और स्पाइक एंटी-टैंक मिसाइलों जैसे हथियारों और सैनिकों को तैनात करके सुरक्षा बढ़ा दी है।

कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान भारत में आतंकियों की गतिविधियों को बढ़ाने की कोशिश में लगा हुआ है मगर उसे मौका नहीं मिल रहा है। इसी बीच अब भारत ने सीमा पर टैंक गाइडेड मिसाइलें भी तैनात कर दी है जिससे ऐसी गतिविधियों पर पूरी तरह से अंकुश लग सके। भारतीय सुरक्षा बलों ने बुधवार को तीन संदिग्ध आतंकवादियों को गोली मार दी, ये तीनों आतंकी जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े थे।

सेना के जनरल ने भी कश्मीर में बेहतर स्थिति पर जोर देते हुए कहा कि ग्रेनेड हमले, गोलाबारी और आतंकवादियों द्वारा किए गए तात्कालिक विस्फोटक उपकरण (आईईडी) हमलों में पिछले 6 महीनों में उल्लेखनीय गिरावट आई है। इजराइली-निर्मित स्पाइक एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल को भारत ने इजरायल से खरीदा है। भारत ने ये टैंक उस समय खरीदे थे जब पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक की गई थी। उसी के बाद इजरायल से ये टैंक खरीदे गए थे।

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बना हुआ है। भारत ने ये अनुच्छेद खत्म कर दिया है जबकि पाकिस्तान वहां की स्थिति को वैसे ही बनाए रखने के लिए अंतरराष्ट्रीय मंच के साथ हर जगह इस मुद्दे को उठा चुका है मगर वो अपने मकसद में कामयाब नहीं रहा है। इस अनुच्छेद को हटाए जाने के बाद से तनाव बना हुआ है।

पाकिस्तान के तमाम नेता भी ये कह चुके हैं कि अब भारत बाकी बचे कश्मीर को भी अपने में मिला लेगा और पाकिस्तान कुछ नहीं कर पाएगा। इसके बाद से सीमा पर हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। भारत ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पहले से ही सीमा पर इस तरह से टैंक आदि तैनात करने शुरू कर दिए हैं।

स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल की खासियतें 

स्पाइक चार किलोमीटर तक की दूरी पर सटीक निशाना लगा सकती है। मिसाइल में फायर करने की क्षमता, निगरानी व अपडेट करने की क्षमता है। ये पिन पॉइंट पर फायर करने की सुविधा देती है। यह मिसाइल उड़ान के दौरान कई लक्ष्यों के लिए स्विच करने की क्षमता रखती है। इसे फायर करने वाले व्यक्ति के पास लो या हाई ट्रजेक्टरी से फायर करने का विकल्प होता है।

मिसाइल में एक इनबिल्ट सीकर होता है जो इसे फायर करने वालों को दो मोड में इस्तेमाल करने की सुविधा देता है, जिसमें दिन (सीसीडी) व रात (आईआईआर) मोड शामिल है। डुअल सीकर मिसाइल की विश्वसनीयता को बढ़ाता है जो पहले ही 2011 में भारतीय सेना की ओर से फील्ड इवैल्यूएशन के दौरान 90 फीसदी से ज्यादा साबित हो चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here