लोन ग्राहकों को SBI की बड़ी सौगात, लेकिन FD पर दिया जोर का झटका

0
24

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर है। एसबीआई ने रिटेल टर्म डिपॉजिट यानी फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) पर मिलने वाले ब्याज में कमी कर दी है। ऐसे में अब एफडी कराने वालों को कम मुनाफा मिलेगा। एसबीआई द्वारा जारी की गई एफडी दरें 10 फरवरी 2020 से लागू होंगी। बैंक ने 1 साल से लेकर 10 साल में मैच्योर होने वाले लॉन्ग टर्म डिपॉजिट्स पर FD की दरों में 0.10 फीसदी से 0.50 फीसदी तक की कटौती करने का ऐलान किया है।

SBI में एफडी कराने वालों को अब कितना मिलेगा ब्याज

  • 7 से 45 दिन की FD कराने वालों को 4.5 फीसदी मिलेगा।
  • 46 दिन से 179 दिन की FD- अब 46 से 179 दिनों की एफडी पर 5 फीसदी ब्याज मिलेगा। इससे पहले 5.50 फीसदी ब्याज मिल रहा था।
  • 180 दिन से 210 दिन की FD- बैंक 180 दिनों से 210 दिनों की एफडी पर बैंक 5.50 फीसदी ब्याज दे रहा है।
  • 211 दिन से 1 साल तक की FD- एसबीआई ने 211 दिन से 1 साल की एफडी पर ब्याज दरें 5.50 फीसदी है।
  • 1 साल से 2 साल तक की FD- एसबीआई अब 1-2 साल की एफडी पर 6 फीसदी ब्याज देगा।
  • 2 साल से 3 साल तक की FD- एसबीआई अब 2-3 साल की FD पर 6.10 फीसदी की बजाए 6 फीसदी ब्याज देगा।
  • 3 साल से 5 साल तक की FD- इस एफडी पर SBI 6 फीसदी ब्याज देगा।
  • 5 से 10 साल तक की FD- इस एफडी पर 10 फरवरी से SBI सिर्फ 6 फीसदी ब्याज देगा।

SBI की सीनियर सिटीजन के लिए नई एफडी ब्याज दरें

  • 7 से 45 दिन की एफडी- एसबीआई 7 से 45 दिन के लिए एफडी पर 5 फीसदी ब्याज देगा।
  • 46 दिन से 179 दिन – एसबीआई 46 से 179 दिनों के लिए एफडी पर 5.5 फीसदी ब्याज देगा।
  • 180 दिन से 210 दिन – 180 दिन से 210 दिनों के लिए एफडी पर 6 फीसदी ब्याज देगा।
  • 211 दिन से 1 साल तक के लिए – एसबीआई इस दौरान एफडी पर 6 फीसदी ब्याज देगा।
  • 1 साल से 2 साल तक – इस एफडी पर 6.5 फीसदी का ब्याज मिलेगा।
  • 2 साल से 3 साल तक – 2 से 3 साल के लिए एफडी पर 6.5 फीसदी ब्याज देगा।
  • 3 साल से 5 साल तक – 3 से 5 साल के लिए एफडी पर SBI 6.5  फीसदी ब्याज देगा।
  • 5 साल से 10 साल तक – 5 से 10 साल के लिए एफडी पर 6.50 फीसदी ब्याज मिलेगा।

सस्ता हुआ होम व ऑटो लोन
देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक एसबीआई ने एमसीएलआर में कटौती की है। इसमें पांच बीपीएस की कटौती की गई है। जिसके बाद यह दर सालाना 7.90 फीसदी से कम होकर 7.85 फीसदी हो गई है। नई दरें 10 फरवरी 2020 से लागू हो रही हैं। इससे ग्राहकों को फायदा होगा क्योंकि अब उन्हें सस्ते में होम लोन और ऑटो लोन मिल जाएगा।

RBI ने किया था ऐलान
बता दें कि गुरुवार को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो दर में कोई बदलाव नहीं करने का ऐलान किया था। रेपो दर 5.15 फीसदी पर बरकरार है लेकिन तब भी एसबीआई ने एमसीएलआर में कटौती की है। गुरुवार को केंद्रीय बैंक ने लोन को बढ़ावा देने के लिए ऐलान किया। आरबीआई ने बैंकों को कैश रिजर्व रेशियो (सीआरआर) में कटौती करने की छूट दे दी है, जो जुलाई 2020 तक लागू रहेगी। इस बैठक में कहा गया था कि छोटे और मझोले उद्योगों को ज्यादा से ज्यादा कर्ज मुहैया कराया जाए। इसके लिए जरूरत पड़े तो बैंक अपने आरक्षित कोष के अनुपात में कटौती कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here