Delhi Assembly Election 2020: वोटरों की चुप्पी से बढ़ी प्रत्याशियों की धड़कन

0
24

नई दिल्ली। बदरपुर विस क्षेत्र में बेशक पहले तीनों प्रमुख प्रत्याशी 2015 के चुनाव में भी भाग्य आजमाने वाले ही थे मगर इस बार मतदाताओं का मूड कुछ अलग ही था। मतदाता सुबह 8 बजे से ही लंबी कतार में अपने मतदान केंद्रों पर आकर खड़े हो गए। शांतिपूर्वक मतदान करने के बाद मतदाता बिना किसी से चर्चा किए अपने घरों को लौटते रहे मगर वर्षो से मतदान केंद्र के अंदर और बाहर का चुनाव प्रबंधन संभाल रहे भाजपा, आप, बसपा व कांग्रेस कार्यकर्ता हैरान थे। उन्हें अपने क्षेत्र के मतदाताओं के रुख का स्पष्ट अंदाजा नहीं हो रहा था।

भाजपा के रामवीर सिंह बिधूड़ी, आप के राम सिंह नेताजी से लेकर बसपा के एनडी शर्मा पूरे दिन विधानसभा क्षेत्र के दौरे पर रहे। जब वे मतदान केंद्रों के बाहर जमे अपने समर्थकों से मतदाताओं का रुख पूछते तो उन्हें 2015 की तरह सटीक जवाब नहीं मिलता। कार्यकर्ता इतना तो कहते कि सब कुछ ठीक चल रहा है मगर यह बताने में असमर्थ थे कि वे प्रतिद्वंद्वी से कितने आगे या पीछे हैं।

लगभग सभी केंद्रों पर समर्थकों के इस रुख से भाजपा, आप, बसपा से लेकर कांग्रेस प्रत्याशियों के दिल की धड़कन लगातार बढ़ रही थी। हां, इस सबके बीच दोपहर बाद यह साफ हो गया था कि क्षेत्र में मुख्य मुकाबला आप प्रत्याशी राम सिंह नेताजी और भाजपा के रामवीर सिंह बिधूड़ी के बीच सिमट गया है। कुछ मतदान केंद्रों पर बसपा केएनडी शर्मा के समर्थक तो कमोबेश कुछ केंद्रों पर कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद कुमार यादव के समर्थक उत्साहित दिखाई दिए।

2015 के चुनाव से अलग थे दो दलों के प्रत्याशी

2015 में यहां भाजपा से रामवीर सिंह बिधूड़ी, आम आदमी पार्टी से एनडी शर्मा, कांग्रेस से राम सिंह नेताजी प्रत्याशी थे। इस बार भाजपा से वही रामवीर सिंह विधूड़ी, आम आदमी पार्टी से राम सिंह नेताजी तो आप से टिकट कटने पर एनडी शर्मा बसपा के उम्मीदवार हैं। दक्षिणी दिल्ली के हरियाणा की सीमा पर अंतिम विधानसभा क्षेत्र बदरपुर के मोलड़बंद कन्या माध्यमिक स्कूल नंबर तीन में बने मतदान केंद्र के अंदर सुबह 10.20 बजे मतदाताओं की लंबी कतार लगी हुई थी।

यहां पुलिस और चुनाव आयोग की तरफ से नियुक्त चुनाव कार्यकर्ता केवल उन्हीं को मुख्य द्वार से अंदर आने दे रहे थे जिनके पास मतदान की पर्ची थी। इसके चलते मोलड़बंद, मीठापुर, जैतपुर, बदरपुर, खड्डा कॉलोनी से लेकर गौतमपुरी क्षेत्र में शाम छह बजे तक मतदान शांतिपूर्वक रहा।

बुजुर्ग परिवार के साथ मतदान केंद्रों पर पहुंचे

जैतपुर क्षेत्र के सौरभ विहार ए ब्लॉक से 95 वर्षीय आनंदी पांडेय अपने पुत्र केडी पांडेय और पुत्रवधू व पौत्र के साथ मतदान केंद्र पर व्हीलचेयर पर पहुंचीं। आनंदी पांडेय का कहना था कि वे जहां भी रहीं हैं, वहां हर चुनाव में उन्होंने मतदान अवश्य किया है। ग्रीन वैली पब्लिक स्कूल के मतदान केंद्र में 85 वर्षीय मीरा दिव्यांग होने के बावजूद अपने पति के साथ मतदान केंद्र पर पहुंचीं। यहां पुलिसकर्मी और चुनाव कार्यकर्ता ने व्हीलचेयर से उन्हें न सिर्फ मतदान केंद्र, बल्कि मतदान के बाद बाहर तक सुरक्षित पहुंचाया।

मतदान केंद्रों के बाहर सौहार्दपूर्ण रहा कार्यकर्ताओं के बीच माहौल

मोलड़बंद, मीठापुर या जैतपुर ऐसे क्षेत्र थे जहां भाजपा और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता नजदीक बैठकर मतदाताओं के लिए मतदान की पर्ची बनाने में सहयोग कर रहे थे। भाजपा समर्थक कुछ देर में जयश्री राम के नारे लगाकर माहौल को गरमाते थे, मगर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता इसका विरोध नहीं करते। जैतपुर में जब आप प्रत्याशी राम सिंह नेताजी समर्थकों के बीच आए तो भाजपा समर्थकों के नारेबाजी की शिकायत कुछ कार्यकर्ताओं ने की मगर आपस में नहीं उलङो।

मीठापुर में तो आप व भाजपा कार्यकर्ता गले मिलकर भी सौहार्द का परिचय दे रहे थे। आप और भाजपा प्रत्याशियों के एक ही जाति से संबंधित होने के कारण प्रशासन ने गुर्जर बाहुल्य क्षेत्रों के मतदान केंद्रों को संवेदनशील माना था मगर यहां मतदान पूरी तरह शांतिपूर्वक हुआ। खड्डा कॉलोनी और जैतपुर एक्सटेंशन-2 सहित गौतमपुरी में अर्धसैनिक बलों की टुकड़ी और पुलिस ने संयुक्त निरीक्षण किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here