नींद में पड़ा खलल तो लिया ऐेसे बदला, कई कंपनियों को देना पड़ा मोटा मुआवजा

0
56

न्यूयॉर्कः सुबह के वक्त सोते हुए अक्सर आसपास की आवाजों जैसे अलार्म, सड़कों पर चल रही गाड़ियों, बच्चों के रोने या बर्तनों की आवाज के अलावा पड़ोस में चल कंस्ट्रक्शन साइट पर कर्मचारियों के शोर से नींद में खलल पड़ना सामान्य बात है लेकिन एक शख्स ने इसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार न्यूयॉर्क के रहने वाले माइक एडिसन की प्रतिदिन शोर के कारण नींद खुल जाती थी। जिसके बाद उन्होंने इस शोर को रोकने के लिए जिम्मेदार लोगों से बातचीत की और शहर के जरुरी नंबर पर फोन भी किया।

इसके अलावा एडिसन ने पुलिस और शहर की अन्य एजेंसियों को लेटर भी लिखा लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। जब किसी भी तरह की कोई सुनवाई नहीं हुई तो एडिसन ने अकेले ही इस शोर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया और कई कंपनियों के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया और वह कामयाब भी रहे। बता दें कि एडिसन के पास किसी भी तरह की कानूनी प्रशिक्षण नहीं है। फिर भी उन्होंने एक कंस्ट्रक्शन कंपनी, रियल एस्टेट डेवलपर और रीट एड ड्रगस्टोर चेन पर मुकद्दमा किया है। एडिसन ने दावा किया है कि ये कंपनियां अपने कर्मचारियों द्वारा शोर करने से रोकने पर असफल रही हैं।

इसके बाद केवल शोर ही कम नहीं हुआ बल्कि समझौते के तौर पर हजारों डॉलर का भुगतान भी किया गया। 70 साल के एडिसन अभी वो क्वींस में अप्रवासियों को अंग्रेजी सिखाते हैं। openTheBooks.com एक गैर-लाभकारी प्रहरी समूह और न्यूयॉर्क टाइम्स द्वारा शहर के आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल 311 ध्वनि प्रदूषण की शिकायतें दर्ज की गई है। वहीं साल 2014 में ये शिकायतें 338000 से 29 प्रतिशत बढकर लगभग 438000 हो गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here