India vs Pakistan ICC world cup 2019: विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मिली छह जीत में ये रहे थे टीम इंडिया के ‘हीरो’

0
43

नई दिल्ली। India vs Pakistan ICC world cup 2019 विश्व कप इतिहास में भारत और पाकिस्तान के बीच मैनचेस्टर में सातवीं बार आमना-सामना होगा। इससे पहले भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ खेले अपने सभी छह मुकाबले जीते हैं। एक नजर डालते हैं कि उन मुकाबलों में टीम इंडिया की जीत का हीरो कौन-कौन रहा।

पहली जीत : 1992 के हीरो सचिन तेंदुलकर

भारत और पाकिस्तान की टीमें विश्व कप में छह बार भिड़ी हैं और हर बार टीम इंडिया को जीत मिली। विश्व कप में पहली बार दोनों टीमें 1992 में भिड़ीं, जिसमें टीम इंडिया को जीत मिली है। यह सिलसिला आज भी जारी है। सिडनी में हुए मैच में टॉस जीतकर भारत ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और सचिन तेंदुलकर के नाबाद 54 रनों की मदद से सात विकेट के नुकसान पर 216 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान की टीम 173 रनों पर ही सिमट गई। पाकिस्तान की ओर से आमिर सोहेल ने 62 रन बनाए थे। भारत की ओर से कपिल देव, मनोज प्रभाकर और जवागल श्रीनाथ ने दो-दो विकेट लिए थे। युवा तेंदुलकर को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया।

दूसरी जीत : 1996 में सिद्धू ने जीत दिलाई

1996 विश्व कप में दोनों टीमें क्वार्टर फाइनल में भिड़ीं। इस बार भी भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और सलामी बल्लेबाज नवजोत सिंह सिद्धू के 93 रनों की बदौलत 287 रन बनाए। पाकिस्तान ने बेहतरीन शुरुआत की, लेकिन अनिल कुंबले और वेंकटेश प्रसाद के तीन-तीन विकेट की बदौलत पाकिस्तानी टीम 248 रनों पर पवेलियन लौट गई। भारत यह मुकाबला 39 रनों से जीता और सिद्धू मैन ऑफ द मैच बने।

तीसरी जीत : 1999 में वेंकटेश का जलवा

मैनचेस्टर में हुए इस मुकाबले में भारत ने एक बार फिर दमदार प्रदर्शन किया और 47 रनों से जीत दर्ज की। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और छह विकट खोकर 227 रन बनाए। राहुल द्रविड़ ने टीम की ओर से सबसे अधिक 61 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम महज 180 रनों पर सिमट गई। पाकिस्तान की ओर से इंजमाम उल हक ने 41 रन बनाए। मैन ऑफ द मैच वेंकटेश प्रसाद ने धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए पांच विकेट चटकाए।

चौथी जीत : 2003 में फिर सचिन बने महान

2003 विश्व कप में सेंचुरियन में खेले गए मुकाबले में सौरव गांगुली की कप्तानी में भारतीय टीम ने फाइनल तक का सफर तय किया, लेकिन ऑस्ट्रेलिया से हार गई। इस विश्व कप में भारत ने पाकिस्तान को भी छह विकेट से शिकस्त दी थी। पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सईद अनवर (101) के शतक की बदौलत सात विकेट खोकर 273 रन बनाए। भारत ने पाकिस्तान के गेंदबाजों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए 45.4 ओवर में चार विकट खोकर लक्ष्य को हासिल कर लिए। मैन ऑफ द मैच तेंदुलकर ने 98 रनों की अहम पारी खेली।

पांचवीं जीत : 2011 में फिर सचिन मैन ऑफ द मैच

2011 में दूसरी बार विश्व कप का खिताब जीतने से पहले इस संस्करण के सेमीफाइनल में भारत का सामना पाकिस्तान से हुआ, जहां मेजबान टीम ने 29 रनों से जीत दर्ज की। मोहाली में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए नौ विकेट खोकर 260 रन बनाए। पाकिस्तान की टीम जवाब में 231 रनों पर ही ढेर हो गई। इस मुकाबले में भी तेंदुलकर ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 85 रनों की पारी खेली और मैन ऑफ द मैच चुने गए।

छठी जीत : 2015 में भारत की एकतरफा जीत

2015 विश्व कप में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 76 रनों से एकतरफा जीत दर्ज की। भारत ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करते हुए मैन ऑफ द मैच विराट कोहली (107) के शतक के दम पर सात विकेट खोकर 300 रन बनाए। पाकिस्तान की टीम जवाब में 224 रनों पर सिमट गई। इस मैच में भारत की ओर से मुहम्मद शमी ने चार विकेट लिए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here