MP में मानसून की एंट्री, हल्की बारिश से खुशगवार हुआ मौसम

0
51

भोपाल: आखिरकार इंतजार खत्म हो गया। साेमवार काे मानसून ने दस्तक दे दी। प्रदेश में पड़ी पहली मानसून बारिश से लोगों के चेहरे पर खुशी की झलक देखने को मिली। साेमवार काे मानसून ने दस्तक दे दी। लगातार दूसरे साल यह प्रदेश में तय समय यानी 13 जून को आता है जो इस बार 12 दिन की देरी से पहुंचा है। मध्य प्रदेश के कई जिलों में सोमवार को तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। आसमान में हल्के बादल छाने और हवा चलने की वजह से गर्मी का प्रकोप भी कम हुआ।

मौसम विभाग ने इंदौर-उज्जैन संभाग के कई जिलों में अगले 48 घंटे के दौरान भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। भोपाल स्थित मौसम विभाग ने इंदौर, झाबुआ, मंदसौर, रतलाम, अलीराजपुर, धार और आगर जिले में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इन इलाकों में अगले 48 घंटे के दौरान यानी 26 तारीख की सुबह तक भारी बारिश होने की संभावना है।

वहीं रतलाम, खरगोन, धार और इंदौर समेत कई जिलों में सोमवार को भी अच्छी बारिश हुई। जिसके बाद मौसम सुहाना हो गया. हालांकि इस दौरान कई जगहों पर बिजली के तारों में फॉल्ट होने के कारण बिजली कटौती ने लोगों को काफी परेशान किया. मौसम विभाग के अनुसार नैनपुर में पांच सेंटीमीटर, पाटन और सैलाना में चार सेंटीमीटर, बिछिया-थांदला-नालछा और सौंसर में तीन सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

इस बार दाे खामियां और दाे खूबियां

कमियां
1. यह मानसून नीरस है, क्याेंकि मप्र में जिन इलाकाें से इसकी एंट्री हुई, वहां हल्की बारिश हुई।
2. मानसून की अरब सागर ब्रांच कमजाेर है। इस वजह से नमी कम है और भारी बारिश नहीं हुई।

खूबियां
1. 
बंगाल की खाड़ी ब्रांच ज्यादा सक्रिय रही, इसने ही मानसून को अरब सागर के नजदीक पहुंचाया।
2. पिछले चार दिन में इसी ब्रांच ने मप्र, प. बंगाल, बिहार, झारखंड, छग  काे कवर किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here