14 दिन की न्यायिक हिरासत में आकाश विजयवर्गीय, कोर्ट ने जमानत देने से किया मना

0
49

इंदौर: बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम अधिकारियों के साथ बैट से मारपीट करने के मामले में उन्हें गिरफ्तार कर लिया।  जिसके बाद पुलिस ने उन्हें कोर्ट में पेश किया। यहां इंदौर की कोर्ट ने उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया। उन्हें 11 जुलाई तक की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। इस बात के विरोध में उनके समर्थक ने जमकर नारे बाजी की तथा एक समर्थक ने आत्मदाह की कोशिश की। हालांकि, पुलिस प्रशासन ने मशक्कत कर युवक को पकड़ लिया।

दरअसल, विधायक आकाश के समर्थक गौरव शर्मा को कोर्ट का यह आदेश हजम नहीं हुआ तो विरोध में उसने आत्मदाह करने का प्रयास किया। हालांकि, पुलिस प्रशासन ने मशक्कत कर युवक को पकड़ लिया। उन्हेंकोर्ट में पेश किया गया। इंदौर की कोर्ट ने उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया। उन्हें 11 जुलाई तक की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। मामले की अगली सुनवाई 7 जुलाई को होगी। विधायक तो रात आठ बजे जिला जेल पहुंचा दिया गया।

नगर निगम के 21 कर्मचारी निलंबित
वहीं मारपीट के दौरान तमाशबीन बने 21 नगर निगम अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। मामले में निलंबित अधिकारियों पर आरोप है कि उन्होंने विधायक आकाश से मार खा रहे कर्मचारी को बचाने की कोशिश नही की।

कांग्रेस ने की धाराएं बढ़ाने की मांग
दूसरी ओर इंदौर शहर कांग्रेस कमेटी और कांग्रेस पार्षद दल ने विधायक आकाश और उसके साथियों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई में धाराएं बढ़ाने की मांग की। इसके साथ ही उन्होंने अन्य दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी और लापरवाही करने वाले पुलिस कर्मियों को बर्खास्त करने की भी मांग की। अपनी मांगों का ज्ञापन उन्होंने एडीजी वरुण कपूर को सौंपा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here