इकलौता एग्जिट पोल जो कहता है कि बीजेपी हार रही है।

0
238
प्रोत्साहित न्यूज़ 18 की तरफ से मैं ज़मीर आलम , आप सबको बता दूं कि यह इंटरव्यू एक दूसरे चैनल जिसका नाम नेशनल दस्तक है ने लिए है , उस इंटरव्यू के लेने वाले पत्रकार का नाम श्री शम्भू कुमार सिंह हैं और जिनका इंटरव्यू लिया गया है उनका नाम सय्यद सूजा बताया गया है ( इंटरव्यू के दौरान ) हम इन दोनों को ही व्यक्तिगत रूप से नहीं जानते पर जो जानकारी इस इंटरव्यू ने साझा की वह बहुत महत्पूर्ण हैं , इसलिये प्रोत्साहित न्यूज़ बिल्कुल भी इस बात से संकोच नहीं करता कि हम अपने सब्सक्राइबर को दूसरे चैनल की जानकारी दिखाएं , यदि आप हमसे जुड़े हैं तो आपको हर ज़रूरी खबर हम दिखाते रहेंगे , जहाँ हम नहीं जा सकेंगे वहाँ किसी की सहायता लेने में हमे कोई संकोच नहीं करेंगे। तो चलिये बताते हैं आपको इंटरव्यू के कुछ खास अंश। इंटरव्यू में सय्यद सूजा ने कहा कि इस बार evm में गड़बड़ी होने की संभावना बहुत कम है क्योंकि वह और उनके साथ 70 विशेज्ञ इस काम पर लगे हैं उन्होंने कहा कि अगर उनकी टीम से थोड़ी बहुत चूक हो भी जाति है तो अधिकतम 171 सीटें ही NDA को मिलेंगी पर अगर उनकी टीम की कोशिश है कि कोई गड़बड़ी न हो ऐसी स्तिथि में NDA की सीटें 171 से कम होने की संभावना है , उन्होंने संभावना जताई कि यह 171 का आंकड़ा मध्यप्रदेश , झारखण्ड और हरियाणा में मुस्तेदी से काम करने पर काम गो सकता है। NDA के लिए यह एग्जिट पोल बताया गया है श्री सय्यद सुजा द्वारा जिसको वह दावा कर रहे हैं कि यह वास्तविक रिजल्ट होगा। उत्तरप्रदेश 20 बिहार 20 बिहार 11 तमिलनाडु 08 मध्यप्रदेश 20 (कम होने की संभावना है) कर्नाटक 11 गुजरात 21 राजस्थान 18 आंध्रप्रदेश 00 ओरिसा 03 केरला 00 तेलंगाना 00 झारखंड 04 (कम होने की संभावना है) आसाम 08 पंजाब 03 छत्तीसगढ़ 07 हरयाणा 04 (कम होने की संभावना है) दिल्ली 00 जम्मु एंड कश्मीर 03 उत्तराखंड 04 हिमांचल 03 गोआ 01 नॉर्थईस्ट 03 ( सिक्किम , मेघालय , अरुणाचल इत्येआदि) कुल 171 (अधिकतम) सय्यद सुजा ने इस इंटरव्यू में कई और भी ज़रूरी बातें बताईं जैसे कि:- 1) जो एग्जिट पोल दूसरे चैनल आपको बता रहे हैं वह 19 क्षेत्रो में मात्र 90,000 लोगों के सर्वे के आधार पर हैं , इसलिये उनसे घबराइए नहीं। 2) पिछले इलेक्शन में भी 20 लाख ऐसी evm थी जो इन्वेंटरी में नहीं थी , जिसके लिए सय्यद सुजा ने सबको चेताया था पर किसी ने ध्यान नहीं दिया था फिर बादमे जब परिणाम एक तरफा आए तो RTI लगाने पर यह बात सामने आई। पर इस बार सभी पार्टियों के कार्यकर्ताओं द्वारा दी जा रही 24 घंटे की चौकसी से इस बार evm बदलने के संभावना काफी कम है। 3) evm हैक हो सकती है ये नहीं पर सय्यद सूजा ने बताया कि evm एक हो सकती है और वह खुद इसको करके बता सकते हैं उनका यह दावा है कि evm को उनसे अच्छे से कोई और नहीं जानता , 4) तकनीकी तौर पर उन्होंने यह बातें बताईं :- evm एक कैलकुलेटर की तरह मशीन है जिसमे ऑपरेटिंग सिस्टम न होकर सिर्फ बर्न-कोड ही होता है , जिसे कर्नल बायपास करके बहुत सारा डेटा एक साथ ट्रांसफर (बदला) जा सकता है। इसके बर्न- कोड को COWBSC कोडिंग कहते हैं। 5) सय्यद सुजा ने बताया कि 1989 में ही जी evm बनादी गईं थीं उसके बाद तकनीकी तौर पर सिर्फ इतना फर्क आया कि पहले यह 128 bit की होती थीं और अब यह 256 bit की होती हैं ( यहां में ज़मीर आलम आपको बता दूं कि हम आज अपने मोबाइल में भी कम से कम 64 GB की मेमोरी इस्तेमाल करते हैं जिसमे 1GB = 1024 × 1024 BIT के बराबर होती है) , और जो भी हम नई evm देखते हैं वह सर्फ ऊपर से उनका बॉक्स बदल गया है एवं उनकी LED बदली है। साथ ही साथ PCB ( Printed Circuit Board) भी अभी तक अपडेट नहीं किया गया है। 6) सय्यद सुजा ने आगे बताया कि यह evm में ब्लूटूथ और wifi जैसे ऑप्शन संभव नहीं हैं क्योंकि उनके लिये ऑपरेटिंग सिस्टम होना ज़रूरी होता है , जिस समय की यह मशीन बनी हैं उस समय सिर्फ रेडियो फ्रीक्वेंसी ही चलन में थी इसलिये इसमे उसके ट्रांसमीटर एवं रिसीवर दोनों लगाए गए थे और इसी के मध्यम से इसमे गड़बड़ी की जा सकती है , उन्होंने इस इंटरव्यू में EVM की सर्किट डिज़ाइन दिखाते हुए यह भी कहा कि इन ट्रांसमीटर और रिसीवर की क्या ज़रूरत है इस मशीन में इसकक कोई जवाब किसी के पास नहीं है। ज्ञात हो कि सय्यद सुजा ने इन सवालों के लिए अमेरिका में भी कई प्रेस कॉन्फ्रेंस ली हैं। आप के लिए वह वीडियो लिंक हम यहाँ शेयर कर यह हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here