कई जगह EVM पर उठ रहे सवाल, चुनाव आयोग ने कहा- सब सुरक्षित हैं

0
104

नई दिल्‍ली: 23 मई को लोकसभा चुनाव की मतगणना से पहले इलेक्‍ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) की सुरक्षा पर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं. निर्वाचन आयोग और प्रशासन ने ईवीएम की सुरक्षा का दावा किया है मगर सोशल मीडिया पर कई वीडियोज अपलोड हुए हैं, जिन्‍हें शेयर कर सनसनीखेज दावे किए जा रहे हैं.

कथित रूप से यूपी के चंदौली, डुमरियागंज, गाजीपुर, बिहार के सारण, हरियाणा के फतेहाबाद, पंजाब के वीडियोज शेयर किए जा रहे हैं. ट्विटर पर कई यूजर्स का दावा है कि ईवीएम के साथ छेड़खानी करने को यह सारे प्रयास किए जा रहे हैं.

यूपी के कन्‍नौज में नवीन मंडी समिति में स्‍ट्रांग रूम बनाया गया है. यहां समाजवादी पार्टी ने कैमरे बंद होने का आरोप लगाया है. हालांकि जांच के बाद एआरओ ने इन आरोपों को गलत बताया. ट्विटर पर एक वीडियो शेयर कर लिखा गया है कि पंजाब में बिना सुरक्षा वाली कार से ईवीएम मिलीं. यह वीडियो खूब शेयर की जा रही है.

फतेहाबाद में एक ट्रक संदूकों से भरा हुआ था, जिसमें प्रशासन के मुताबिक काउंटिंग के बाद ईवीएम को वापस ले जाने का प्रबंध किया जाना था. कांग्रेस की शिकायत के बाद इन बक्सों से भरे ट्रक को फौरी तौर पर वापस कर दिया गया था. फिलहाल कांग्रेस के कार्यकर्ता इस स्ट्रांग रूम के बाहर लगातार पहरा दे रहे हैं.

पॉलिटिकल पार्टीज ने की कार्यकर्ताओं से अपील

कांग्रेस नेता राजीव शुक्‍ला ने मंगलवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर रहा कि जगह-जगह से EVM को लेकर शिकायतें आ रही हैं. उन्‍होंने कहा कि हमारी मांग है कि इस मामले में चुनाव आयोग तत्काल कदम उठाए ताकि लोगों की आशंकाएं दूर हों और लोगों का विश्वास बना रहे. मुंबई कांग्रेस अध्‍यक्ष मिलिंद देवड़ा ने महाराष्‍ट्र के मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी को चिट्ठी लिख EVM की सुर‍क्षा सुनिश्चित कराने को कहा है.

बीएसपी कार्यालय ने प्रदेश भर के एजेंटों को पत्र लिखकर हिदायत दी है कि ईवीएम खुलने के पहले पूरी जांच कर लें. पार्टी ने अपने एजेंट्स से कहा है कि ग्रीन पेपर सील और स्पेशल टैग की जांच करें.

राष्‍ट्रीय जनता दल ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर महागठबंधन के लोगों से स्‍ट्रांग रूम की रखवाली करने की अपील की है. इसमें कहा गया, “महागठबंधन के मज़बूत सिपाहियों से अपील है कि फ़र्ज़ी एग्जिट पोल में ज्यादा ना फंसे. बस स्ट्रांग रूम की पूरी तरह रखवाली करे. जब EVM खुलेगा तो गोदी मीडिया और BJP का चाल चेहरा चरित्र का अंदाज़ा लग जायेगा. ये पोल के मनोविज्ञान में आपको फंसा के अंदर ही अंदर बड़ा गेम खेलना चाहते है.”

Rashtriya Janata Dal

@RJDforIndia

महागठबंधन के मज़बूत सिपाहियों से अपील है कि फ़र्ज़ी एग्जिट पोल में ज्यादा ना फँसे।बस स्ट्रांग रूम की पूरी तरह रखवाली करे। जब EVM खुलेगा तो गोदीमीडिया और BJP का चाल चेहरा चरित्र का अंदाज़ा लग जायेगा। ये पोल के मनोविज्ञान में आपको फंसा के अंदर ही अंदर बड़ा गेम खेलना चाहते है।

1,943 people are talking about this
दिल्‍ली के डिप्‍टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा है, “देशभर में मतगणना केंद्रों के आसपास EVM खुली गाड़ियों में पकड़ी जा रही हैं. जनता पकड़ रही है लेकिन ख़ुद को पत्रकार कहने वाले बड़े बड़े लोग आंख मूंदकर बैठे है. उन्हें इंतज़ार है कि इस हेराफेरी से मोदी जीते तो ये फिर EVM पर सवाल उठाने वालों पर भौंकना शुरू करें.”

एक और ट्वीट में सिसोदिया ने कहा, “झांसी…मेरठ…ग़ाज़ीपुर..चंदौली…सारन.. हर जगह मतगणना केंद्रों पर मशीनें बदली जा रही हैं लेकिन चुनाव आयोग और तथाकथित-मीडिया मोदी के सामने नतमस्तक, आंखों पर पट्टी बांधे घुटनों के बल बैठा है.. जनता ने मोदी के ख़िलाफ़ वोट दिया है उसे मीडिया और चुनाव आयोग मिलकर बदल रहे हैं.”

Manish Sisodia

@msisodia

देशभर में मतगणना केंद्रों के आसपास इवीएम खुली गाड़ियों में पकड़ी जा रही हैं. जनता पकड़ रही है…
लेकिन ख़ुद को पत्रकार कहने वाले बड़े बड़े लोग आँख मूँदकर बैठे है …. उन्हें इंतज़ार है कि इस हेराफेरी से मोदी जीते तो ये फिर इवीएम पर सवाल उठाने वालों पर भोंकना शुरू करें.

5,803 people are talking about this

Manish Sisodia

@msisodia

झाँसी…मेरठ…ग़ाज़ीपुर..चंदौली…सारन..हर जगह मतगणना केंद्रों पर मशीने बदली जा रही है..लेकिन चुनाव आयोग और तथाकथित-मीडिया मोदी के सामने नतमस्तक,आँखों पर पट्टी बांधे घुटनों के बल बैठा है..
जनता ने मोदी के ख़िलाफ़ वोट दिया है उसे मीडिया और चुनाव आयोग मिलकर बदल रहे हैं..

Vikas Yogi

@vikaskyogi

झांसी में गाड़ियों में भरी EVM मिलीं।

मंडी समिति में दोनों गाड़ियों को छोड़कर भागे कर्मचारी ।@ECISVEEP कोई जवाब ???

3,405 people are talking about this
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी ऑडियो जारी कर कार्यकर्ताओं से अपील की है. उन्‍होंने कहा, “आप लोग, अफवाहों और एक्जिट पोल से हिम्मत मत हारिए. यह अफवाहें आपका हौसला तोड़ने के लिए फैलाई जा रही हैं. इस बीच आपकी सावधानी और भी महत्वपूर्ण बन जाती है. स्ट्रांग रूम और मतगणना केंद्रों पर डटे रहिए और चौकन्ने रहिए. हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी और आपकी मेहनत का फल मिलेगा.”

गाजीपुर में धरने पर बैठे MGB उम्‍मीदवार

यूपी के कई शहरों से ऐसी रिपोर्ट्स हैं जहां ईवीएम से भरे ट्रक इधर से उधर जाते पकड़े गए. गाजीपुर में महागठबंधन प्रत्‍याशी अफजाल अंसारी ईवीएम बदले जाने की आशंका को लेकर मतगणना स्‍थल के बाहर धरने पर बैठ गए. उनका आरोप है कि एक ट्रक ईवीएम भरकर पहुंचा था मगर उनकी सक्रियता के चलते प्रशासन अपने मंसूबों में सफल नहीं हो सका. उन्‍होंने ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताई है.

गाजीपुर के वायरल वीडियो पर रिटर्निंग अधिकारी ने कहा कि “प्रत्‍येक प्रत्‍याशी को स्‍ट्रांग रूम पर निगरानी रखने के लिए प्रत्‍येक आठ घंटे पर पास जारी किया गया है.” मऊ में एक स्‍ट्रांग रूम के बाहर उमड़ी भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को बल-प्रयोग करना पड़ा.

यूपी के वीडियोज पर चुनाव आयोग ने क्‍या कहा?

चुनाव आयोग ने उत्‍तर प्रदेश के वीडियो पर बयान जारी किए हैं. गाजीपुर में प्रत्‍याशियों के बवाल पर EC ने कहा है कि ‘उम्‍मीदवारों को EVM स्‍ट्रांग रूम पर नजर रखने को लेकर आपत्ति थी’ जिसे ECI की गाइडलाइंस के बारे में बताकर सुलझा लिया गया है.

चंदौली वाले वीडियो पर चुनाव आयोग ने कहा है कि कुछ लोगों ने मनगढ़ंत आरोप लगाए हैं. EVM पर्याप्‍त सुरक्षा और प्रोटोकॉल में हैं. डुमरियागंज के वीडियो पर भी चुनाव आयोग ने यही कहा कि EVM पूरी सुरक्षा में रखी गई थीं. ‘बेवजह विरोध किया गया.’ डीएम और एसपी ने लोगों को समझा दिया है. झांसी में भी चुनाव आयोग ने किसी विवाद से इनकार किया है.

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

Sheyphali Sharan

@SpokespersonECI

1/n Pl note the followg factual reports from concerned Returning Officers in context of varied clips being circulated on media platforms on EVM strong room issues. Clarification issued by RO👇wrt mishandling of EVMs in Chandauli, UP. All extant guidelines issued by ECI followed.

395 people are talking about this
लखनऊ के अपर निर्वाचन अधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी ने कहा है कि हर जगह की शिकायत को वेरिफ़ाई किया गया सब अफ़वाह है. ईवीएम पूरी तरह सुरक्षित है. उसे स्ट्रांग रूम में प्रत्याशियों या उनके एजेंट के सामने वीडियो रिकॉर्डिंग करते हुए डबल सील में रखा गया है. ये सब अफ़वाह है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here