कुदरत का करिश्मा, उल्टी तरफ धड़कता है इस शख्स का दिल

0
42

इंदौर: एमवाय अस्पताल में एक अनोखा मामला सामने आया है। जहां इलाज के लिए आए एक मरीज के सारे अंग विपरीत दिशा में पाए गए। इसका खुलासा तब हुआ जब अपेंडिक्स के ऑपरेशन से पहले मरीज का सीटी स्कैन किया गया। मरीज की इस अवस्था को मेडिकल में सांइटस इंवर्सेस कहा जाता है। इस बीमारी में शरीर के भीतरी अंग सामान्य व्यक्ति की अपेक्षा विपरीत स्थिति में होते हैं। मानवीय शरीर में अंगों की यह अजब-गजब स्थिति एक लाख में से केवल 10 ही लोगों में पाई जाती है। बाणगंगा का रहने वाला यह युवक पेट दर्द की शिकायत लेकर रविवार को अस्पताल में भर्ती हुआ था।

पेट दर्द की शिकायत लेकर आया था मरीज
इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल के सर्जरी विभाग के सहायक प्रोफेसर अरविंद शुक्ला ने बताया कि मरीज पेट दर्द की शिकायत लेकर अस्पताल पहुंचा था। अपेंडिक्स के ऑपरेशन से पहले जब मरीज की अलग-अलग जांच कराई गई, तो खुलासा हुआ कि जन्मजात विकृति के कारण दिल के अलावा उसके कुछ अन्य प्रमुख भीतरी अंग भी सामान्य स्थिति की तुलना में उल्टी दिशा में हैं।

मरीज के ये अंग भी उल्टी साइड हैं
डॉक्यटर ने बताया कि मरीज का लीवर भी बाईं तरफ है जो सामान्य तौर पर दाईं तरफ होता है। अपेंडिक्स और छोटी आंत चिपकी व उलझी हुई मिलीं। बड़ी आंत भी बायीं तरफ न होकर दायीं तरफ थी। इसे ठीक करने के लिए ऑपरेशन जरूरी था लेकिन वह भी अंगों के दूसरी दिशा में होने की वजह से चुनौतीपूर्ण था। जोखिम कम से कम हो, इसलिए दूरबीन पद्धति से ऑपरेशन करने का निर्णय लिया। इस स्थिति में हार्ट में भी कई जटिलताएं मिलती हैं। जैसे हृदय में छेद होना, हार्ट के वॉल्व में खराबी होना। इसलिए बेहोशी के दौरान भी कई जोखिम हो सकते थे।

विभागाध्यक्ष डॉ. आरके माथुर के मार्गदर्शन में डॉ. मनीष कौशल, डॉ. अरविंद शुक्ला, डॉ. यश मदनानी, डॉ. सौरभ राज, डॉ. रोहित दुबे, डॉ. शशांक बघेल की टीम ने दूरबीन पद्धति से अपेंडिक्स का ऑपरेशन किया। अंतत: ऑपरेशन सफल रहा और मरीज को जल्द ही छुट्टी दे दी जाएगी। लेकिन उन्हें समय-समय पर डॉक्टरों को दिखाते रहने की सलाह दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here