ग्वालियर में स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प, प्रशासन से नाराज डॉक्टरों ने हड़ताल का किया ऐलान

0
74

ग्वालियर: ग्वालियर में प्रशासन की मनमानी व ज्यादती से नाराज शहर के डॉक्टर्स अनिश्चित कालिन हड़ताल पर चले गए हैं। जिस वजह से शहर में स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प हो गई है। मामला सिटी सेंटर स्थित गर्ग चाइल्ड एंड मदर केयर सेंटर की डॉ. प्रतिभा से जुड़ा है। जिन्हें आबर्शन करने के जुर्म में बिना मामला दर्ज किए सुबह साढे दस बजे से रात 9 बजे तक थाने में बिठाए रखा। पुलिस के इस अमानवीय व्यवहार से डॉक्टर्स में खासी नाराजगी देखने को मिली।

जानकारी के अनुसार, एसडीएम दीपशिखा भगत सिटी सेंटर स्थित गर्ग चाइल्ड एंड मदर केयर सेंटर में मौजूद गजरा राजा मेडिकल कॉलेज की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ प्रतिभा गर्ग से गर्भपात कराने के लिए जाती है। डॉ प्रतिभा उन्हें सलाह देती है कि वे अपने 8 सप्ताह के गर्भ को न गिराए। एसडीएम के जिद करने पर प्रतिभा उन्हें सोनोग्राफी कराने की सलाह देती है। एसडीएम की जाने के एक घंटे बाद विश्वविद्यालय थाने की पुलिस आती है और डॉक्टर प्रतिभा को उठाकर ले जाती है मानो डॉक्टर ना हो कोई डकैत हो। सुबह साढ़े 11 बजे से रात 9 बजे तक प्रतिभा को विश्वविद्यालय थाने में बिठा कर रखा जाता है और उनके साथ अमानवीय व्यवहार किया जाता है।

ग्वालियर शहर के डॉक्टरों को जब पता चलता है तो वे कलेक्टर अनुराग चौधरी के पास जाते हैं। चौधरी बताते हैं कि प्रतिभा ने संगीन जुर्म किया है और गर्भपात से जुड़े हुए सारे स्टिंग सबूत प्रशासन के पास है। हालांकि मांगे जाने पर प्रशासन ऐसा कोई सबूत पेश नहीं कर पाता। डॉक्टर जब विश्वविद्यालय थाने पहुंचते हैं तो पुलिस कहती है कि मामला उनके क्षेत्र का नहीं प्रशासन ने दवाब डालकर जबरदस्ती डॉक्टर को उनके थाने में बिठा रखा है। आखिर डॉक्टरों की दबाव के चलते डॉ प्रतिभा को 9 घंटे बाद छोड़ दिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here