TL बैठक में बोले कलेक्टर- मियाद खत्म, नियमों का पालन न करने वाले कोचिंग संस्थानों को बंद कराओ

0
58

भोपाल। कोचिंग संस्थानों को जितनी मोहलत दी गई थी, वह अब खत्म हो गई है। जिन कोचिंग संस्थानों ने अपने यहां सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम नहीं किए हैं और नियमों का पालन नहीं किया है, उनमें ताला डालने की कार्रवाई शुरू करें। यह निर्देश सोमवार शाम पांच बजे हुई टाइम लिमिट (टीएल) की बैठक में कलेक्टर तरुण पिथौड़े ने जांच दल के अधिकारियों को दिए।

बता दें कि चारों टीमों की जांच रिपोर्ट में जवाहर चौक स्थित ज्ञानदा अकेडमी ही ऐसा पहला संस्थान हैं, जहां शौचालय सहित अन्य इंतजाम न होने के कारण, उनके संचालक ने सेंटर को बंद कर दिया है। उन्होंने इस संबंध में एमपी नगर एसडीएम राजेश गुप्ता को कम्प्लायंस रिपोर्ट भी भेज दी है। इंद्रपुरी स्थित आईटीडीपी कोचिंग सेंटर में टेक्निकल ट्रेनिंग और कॉमर्स कोचिंग क्लास संचालित हो रही है, उसे भी हिदायत दी गई है। एमपी नगर जोन-1 स्थित मिलन नमकीन के उपर स्थित कोचिंग सेंटर, एमपी नगर जोन-2 स्थित तृप्ति हॉस्टल तथा लालघाटी स्थित मेयो हॉस्पिटल भी बेसमेंट में क्लासेस चला रहा है। इन सभी कोचिंग संस्थानों को बंद कराया जाएगा।

दिव्यांगों के लिए कैंप लगाकर वितरित करें प्रमाण पत्र

कलेक्टर ने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि शासन की योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों तक शीघ्र पहुंचे, इसके प्रयास करें। सीईओ जिला पंचायत सतीश कुमार एस को निर्देश दिए कि वे दिव्यांगजनों के लिए कैंप लगाकर उनको चिन्हांकित कर प्रमाण-पत्र उपलब्ध कराएं। जरूरतमंद दिव्यांगजनों का इलाज तत्काल निःशुल्क कराएं। बैठक में कलेक्टर ने स्वास्थ्य, शिक्षा, पशु चिकित्सा, उद्योग, खनिज, आदिम जाति, महिला बाल विकास सहित विभिन्न विभागों के लंबित प्रकरणों की जानकारी लेते हुए कहा कि इन सभी मामलों का जल्द से जल्द निराकरण करें।

समय पर खुलें राशन दुकानें, शत-प्रतिशत वितरण

कलेक्टर ने जिला खाद्य अधिकारी ज्योति शाह नरवरिया को निर्देशित किया कि पात्र हितग्राहियों को राशन शत-प्रतिशत वितरित हो एवं उचित मूल्य की दुकानें नियमित तथा समय पर खुलें। उन्होंने स्ट्रीट फूड एवं अन्य खाद्य पदार्थों की दुकानों का सतत निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए। बैठक में सीमांकन, भू अर्जन, भूमि आवंटन, डायवर्सन, सीमांकन, नामांतरण सहित सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतों व प्रकरणों को जल्द सुलझाने के लिए कहा है।

सड़कों के भरे गड्ढे, जल भराव वाले स्थानों में करवाएं सफाई

बैठक में कलेक्टर ने बारिश के पहले की तैयारियों की जानकारी लेते हुए कहा कि सभी अनुविभागीय अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में जल भराव वाले स्थानों का चिन्हांकन कर समुचित व्यवस्था करने व नालों की साफ-सफाई करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने प्रशासन आपके द्वार कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए एसडीएम को अलग-अलग दिन जनसंवाद करने और आम जनता की समस्याओं का तत्काल निराकरण करने के निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here