नवजोत सिंह सिद्धू की कम हुई टेंशन, मुख्यमंत्री ने कही ये बात

0
97

चंडीगढ़: पंजाब मंत्रिमंडल में हुए फेरबदल के बाद अपना नया विभाग न संभालने वाले नवजोत सिंह सिद्धू मिनिस्टर विद आऊट पोर्टफोलियो रहेंगे। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के साथ उनके मतभेद के बावजूद कैबिनेट में उनकी जगह बरकरार रहेगी और उन्हें बाहर का रास्ता नहीं दिखाया जा रहा है जैसी कि चर्चाएं चल रहीं थीं। जब तक वह अपना विभाग नहीं संभालते ऊर्जा विभाग की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री खुद संभालेंगे। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के गत दिनों दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के साथ इस मुद्दे पर बेहद संक्षिप्त-सी बातचीत हुई और इसमें कैप्टन ने स्पष्ट कर दिया कि उन्हें विभाग सौंप दिया गया है वह जब चाहे जिम्मेदारी संभाल सकते हैं।

उधर, 9 जून के बाद सिद्धू अपने ट्विटर अकाऊंट पर भी नजर नहीं आ रहे हैं और न ही राज्य सरकार के साथ उनका कोई संपर्क है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि मंत्री के साथ उन लोगों की गैर-रस्मी बातचीत भी नहीं हो सकी है। इसके अलावा मंत्रिमंडल के अन्य सदस्यों के साथ भी सिद्धू का कोई संपर्क नहीं है।

 प्रदेश प्रभारी आशा कुमारी ने ‘दैनिक सवेरा’ से बातचीत में कहा कि सिद्धू मंत्रिमंडल में शामिल हैं और उन्हें बाकायदा विभाग भी सौंपा गया है जिसकी जिम्मेदारी उन्होंने नहीं संभाली है। उन्होंने कहा कि सिद्धू के साथ उनका भी कोई संपर्क नहीं है। इस गतिरोध के हल संबंधी सवाल के जवाब में आशा कुमारी ने कहा कि अगर सिद्धू अपना विभाग नहीं संभालते तो वह मंत्री विद आऊट पोर्टफोलियो रह सकते हैं। सरकारों में ऐसा प्रावधान होता है, इससे पहले भी कई बार ऐसा हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here