योगी सरकार की रडार पर आए कामचोर- भ्रष्ट अफसर, CM ने मांगी लिस्ट

0
68

लखनऊः योगी सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्ट और कामचोर अधिकारियों की लिस्ट मांगी है जो अपने कार्यकाल में हमेशा लेट लतीफ रहे और भ्रष्ट रहे। इस लिस्ट के आने में अभी वक्त लगेगा। बताया जा रहा है कि अभी कुछ महीने का व्कत लग सकता है। आपको बता दें कि इससे पहले योगी सरकार ने 2 वर्षों में योगी सरकार ने विभिन्न विभागों के 200 से ज्यादा अफसरों और कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर चुकी है। इसके अलावा अब योगी सरकार की रडार पर 150 से ज्यादा अधिकारी आ गए हैं।

गृह विभाग में सबसे ज्यादा 51 लोगों को जबरन रिटायर किया गया, जबकि राजस्व विभाग में भ्रष्टाचार के आरोप में 36 अधिकारियों व कर्मचारियों को रिटायर किया गया। श्रम विभाग में 16 और वन विभाग में 11 लोगों को जबरन रिटायर किया जा चुका है। संस्थागत वित्त वाणिज्य कर एवं मनोरंजन कर विभाग में 16 लोग हटाए जा चुके हैं।

दुग्ध विकास विभाग में 7 लोगों को रिटायर किया गया। चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग से 6 लोगों की छुट्टी की गई।खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग में 3, नगर विकास व आबकारी विभाग में पांच-पांच और बाल एवं पुष्टाहार विभाग में दो लोग जबरन रिटायर किए गए। टेक्निकल एजुकेशन डिपार्टमेंट से 2 लोग, कारागार प्रशासन एवं सुधार से 4 लोग, बेसिक शिक्षा विभाग से 8 लोग सेवा से बाहर किए गए।

समाज कल्याण विभाग के 5 कर्मचारियों को भी दंड मिला है। नियुक्ति एवं कार्मिक के दो, ग्राम्य विकास के दो, व्यवसायिक शिक्षा व कौशल विकास के दो और प्राविधिक शिक्षा के दो अफसरों का प्रोमोशन रोक दिया गया है। वित्त विभाग के 3, खादी ग्रामोद्योग के दो, राजस्व के 3, अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ के 3 कर्मचारियों को भी सजा मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here