दुष्कर्म मामला: चुनाव से ठीक पहले केरल के पूर्व सीएम चांडी समेत छह के खिलाफ सीबीआइ जांच की संस्तुति

0
16

तिरुअनंतपुरम। विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले केरल की माकपा नेतृत्व वाली एलडीएफ सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी और पांच अन्य के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप की जांच सीबीआइ से कराने की संस्तुति की है। कांग्रेस ने इस फैसले को राजनीति से प्रेरित बताया है। कहा कि एलडीएफ सरकार को पांच साल तक मामले में कुछ नहीं मिला, लेकिन जैसे ही चुनाव नजदीक आए विपक्ष को बदनाम करने के लिए यह चाल चल दी।

चांडी ने कहा- मैं किसी भी तरह की जांच का सामना करने के लिए तैयार हूं

मामला राज्य के सनसनीखेज सोलर पैनल घोटाले में आरोपित महिला से जुड़ा हुआ है। चांडी ने कहा है कि वह किसी भी तरह की जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं।

केंद्रीय मंत्री मुरलीधरन ने कहा- चुनाव के मद्देनजर की गई सीबीआइ जांच की सिफारिश 

मंत्री वी मुरलीधरन ने भी केरल सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि विपक्षी नेताओं के खिलाफ सीबीआइ जांच की सिफारिश आसन्न विधानसभा चुनाव के मद्देनजर की गई है।

माकपा ने कहा- जांच का फैसला राजनीति से प्रेरित नहीं है

माकपा के प्रभारी राज्य सचिव ए विजयराघवन ने विपक्ष के आरोपों का खंडन किया है। कहा है कि मामले की जांच का फैसला बिल्कुल भी राजनीति से प्रेरित नहीं है। इसका आगामी चुनाव से कोई मतलब नहीं है।

फैसले के विरोध में युवा कांग्रेस ने मुख्यमंत्री का फूंका पुतला

कांग्रेस ने हाल ही में राज्य में चांडी के नेतृत्व में अप्रैल-मई में होने वाले चुनाव के लिए दस सदस्यीय चुनाव प्रबंधन समिति बनाई है। सरकार के फैसले के विरोध में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने रविवार को सचिवालय तक जुलूस निकाला और मुख्यमंत्री पिनरई विजयन का पुतला फूंका।

सोलर पैनल घोटाले में आरोपित महिला ने चांडी पर दुष्कर्म और यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे

कांग्रेस नेतृत्व वाली यूडीएफ सरकार के कार्यकाल में 2012 में हुए सोलर पैनल घोटाले में आरोपित महिला ने चांडी और अन्य नेताओं पर दुष्कर्म और यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। चांडी के अलावा कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल, हिबी इडेन, अदूर प्रकाश, विधायक एपी अनिल कुमार और भाजपा नेता एपी अब्दुल्ला कुट्टी मामले में आरोपी हैं। मामले में 2014 में अब्दुल्ला कुट्टी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई थी। तब वह कन्नूर से कांग्रेस के विधायक थे। बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए। महिला ने हाल ही में मुख्यमंत्री विजयन को पत्र लिखकर दुष्कर्म मामले की सीबीआइ जांच की मांग की थी।