क्लेम के लिए बीमारों की मौत को बताते थे हादसा

0
55

धार। पुलिस ने गंभीर बीमारियों से मृत व्यक्तियों के नाम पर क्लेम की राशि निकालने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह के सदस्य मृत व्यक्तियों के नाम से हादसे की फर्जी रिपोर्ट बनाकर बीमा कंपनियों से करोड़ों का क्लेम निकाल लेते थे। पुलिस ने गिरोह के 10 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक डॉक्टर और वकील के साथ ही पीड़ितों के परिजन भी शामिल हैं। सरकारी डॉक्टर भी फर्जी पोस्टमार्टम रिपोर्ट तैयार करता था।

धार पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रतापसिंह ने बताया कि गिरोह के लोग बीमारग्रस्त परिवार को ढूंढते थे। उनके परिजन को लालच दिया जाता था। इसके बाद एक्सीडेंटल बीमा कराया जाता था। फिर बीमा की राशि प्राप्त करने के लिए वाहन दुर्घटना की फर्जी घटना बनाकर रैकेट चलाया जाता था। एसपी ने कहा कि मामले में पुलिस की भूमिका की भी जांच करने को कहा गया है।

ये हुए गिरफ्तार

नितिन पिता शिवा ग्राम बड़दा, महेश पिता कावाजी सिर्वी, लक्ष्मण पिता हेमादी सिर्वी, प्रकाश पिता हेमाजी, मनोज पिता ऊंकार सिर्वी नवादपुरा, डॉ. नितिन वाघेला शासकीय अस्पताल बाग, मुन्ना पिता ईडू ग्राम अमलझूमा, संतोष पिता दूदा सिर्वी, भगवान पिता घीसाजी, जीवन पिता ऊंकार सिर्वी ग्राम आली थाना कुक्षी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here