Home मध्यप्रदेश इंदौर में जर्जर मकान हटाने पर फिर हंगामा, यह है पूरा मामला

इंदौर में जर्जर मकान हटाने पर फिर हंगामा, यह है पूरा मामला

0
87
इंदौर। इंदौर नगर निगम द्वारा बियाबानी में भगत सिंह मार्ग पर स्थित रामेश्वर भेरूलाल के जर्जर मकान तोड़ने पर जमकर हंगामा हुआ। यहां रहने वाले किराएदार निर्मल राठौर और उसके परिवार ने हंगामा किया और कहा कि निगम आगे को आगे का जर्जर भवन तोड़ना था, लेकिन उसके पीछे बने मकान को तोड़ने की बात उन्होंने नहीं कही थी, इसके बाद भी पीछे का मकान तोड़ दिया गया। किराएदार ने कहा कि उसमें उनका घर का सारा सामान रखा था जो अब मलबे में दब गया है।

हंगामे के दौरान नगर निगम कर्मचारी उन्हें पीछे हटने की बात कहते रहे। इस दौरान वहां मौजूद मल्हारगंज एसडीएम डॉ राकेश शर्मा ने कहा कि वे यहां प्रशासन की ओर से सहयोग देने आए हैं। जब उनसे किराएदार द्वारा लगाए गए आरोपों पर सवाल किए गए तो उन्होंने कहा कि नगर निगम पूरी जानकारी के बाद ही कार्रवाई करता है। हम यहां सुरक्षा की व्यवस्था देख रहे हैं। नगर निगम शहर में अब तक अति संवेदनशील जर्जर 26 भवनों में से 11 को तोड़ चुका है। गौरतलब है कि पिछले दिनों एक जर्जर मकान हटाने को लेकर विधायक आकाश विजयवर्गीय और नगर निगम अधिकारियों के बीच विवाद हो गया था। जिसके बाद विधायक ने निगम अधिकारी को क्रिकेट बैट से पीट दिया था।

कालानी नगर चौराहे से हटाई मौसा जलेबी की दुकान

नगर निगम ने कालानी नगर चौराहे पर लेफ्ट टर्न चौड़ीकरण के लिए मौसा जलेबी के साथ अन्य चार दुकानों को भी हटाया गया। जोन नंबर 16 के अधिकारी मनीष्‍ज्ञ पांडे ने बताया कि चौराहे पर मौसा जलेबी की पुरानी दुकान को पूरी तरह हटाया गया है। वहीं इस दुकान से लगी चार दुकानों के चार-चार फीट के हिस्से को तोड़ा गया। यह निर्माण रमेश दुबे के नाम पर दर्ज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here